भारत में शुरू होने वाला है नाटकों का महाकुंभ, थियेटर ओलंपिक 17 से

राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय का अनुमान है कि थियेटर ओलंपिक में भारत समेत दुनिया के 25 हजार से ज्यादा कलाकार भाग ले सकते हैं. ओलंपिक का आयोजन दिल्ली के अलावा चेन्नई, बेंगलुरू, भोपाल, चंडीगढ़, कोलकाता, तिरुअनंतपुरम, पटना, अगरतला, गुवाहाटी, जयपुर, जम्मू, अहमदाबाद और मुंबई के अलावा देश के 17 शहरों में होगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी थियेटर ओलंपिक के तहत नाटकों के शो होंगे. थियेटर ओलंपिक में नाटकों के अलावा सेमिनार, संगोष्ठी, वरिष्ठ रंगकर्मियों की क्लास, यूथ फोरम का भी आयोजन होगा.

विश्व के 30 देशों के रंगकर्मी दिखाएंगे जौहर

भारत में पहली बार होने जा रहे थियेटर ओलंपिक में दुनिया के 30 देशों के रंगकर्मियों को आमंत्रित किया गया है. इनमें चीन, जापान, फ्रांस, तुर्की, यूके, नेपाल, आस्ट्रेलिया, ग्रीस, इजरायल, इटली, अमेरिका, बांग्लादेश, बेल्जियम, ब्राजील, डेनमार्क, चेक रिपब्लिक, अजरबैजान समेत अन्य देश शामिल हैं. बता दें कि राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय के निदेशक वामन केंद्रे और प्रसिद्ध रंगकर्मी रतन थियम पिछले तीन वर्षों से भारत में थियेटर ओलंपिक के आयोजन के लिए प्रयासरत थे. एनएसडी से सालाना जलसे भारत रंग महोत्सव की जगह इस बार थियेटर ओलंपिक का आयोजन किया जा रहा है. एमके रैना, बंसी कौल, माया कृष्णराव, भानु भारती जैसे देश के कई नामचीन रंगकर्मी इस आयोजन में शिरकत कर रहे हैं.

ग्रीस से शुरू हुआ थियेटर ओलंपिक का सफर

ओलंपिक गेम्स की तरह थियेटर ओलंपिक का सफर भी ग्रीस यानी यूनान से ही शुरू हुआ था. सबसे पहला थियेटर ओलंपिक 1995 में ग्रीस के डेल्फाई में हुआ था. 1999 में जापान में दूसरे ओलंपिक का आयोजन किया गया. उसके बाद से इस वैश्विक समारोह का आयोजन इस्तांबुल, सियोल, चीन और पोलैंड में हो चुका है.

थियेटर ओलंपिक की मुख्य बातें

17 फरवरी से 8 अप्रैल तक चलेगा थियेटर ओलंपिक 2018
51 दिनों के थियेटर ओलंपिक में देश के 17 शहरों में होंगे शो
450 से ज्यादा नाटकों के शो और 600 एम्बियेंस परफॉर्मेंस
30 भारतीय और 15 विदेशी भाषाओं के नाटकों का होगा प्रदर्शन
राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय (एनएसडी) कर रहा है यह आयोजन
2 इंटरनेशनल सेमिनार दिल्ली और मुंबई में आयोजित होंगे
भोपाल, चंडीगढ़, बेंगलुरू, कोलकाता और जयपुर में भी होंगे सेमिनार

Loading...
E-Paper