रुक गई विश्व की सबसे पुरानी घड़ी के कांटे, जानें इससे जुड़ी दंतकथाएं

- in अन्तर्राष्ट्रीय

चेक रिपब्लिक गणराज्य के प्राचीनतम शहर प्राग में स्थित राजसी महल की दीवार पर लगे दुनिया की सबसे विशालतम घड़ी के कांटे रुक गए हैं। विंटर के इस सीजन में बर्फ के साथ-साथ कहा जा सकता है कि घड़ी के कांटे भी एक ही जगह पर जम गए हैं। लेकिन 600 सालों से अधिक समय से जो घड़ी इस शहर को समय के बारे में बताती आ रही है। वह पिछले कुछ समय से एक ही समय बता रही है। प्राग के सबसे प्रसिद्ध ज्योतीषीय घड़ी ‘ओरलोज’ कई दिनों से रिपेयर के लिए बंद पड़ी है।

रुक गई विश्व की सबसे पुरानी घड़ी के कांटे, जानें इससे जुड़ी दंतकथाएं

पहली बार नहीं हुआ है ऐसा

बताया जा रहा है कि यह पहली बार नहीं है जब इस घड़ी ने काम करना बंद कर दिया है। घड़ी की उम्र और इसकी नाजुकता इस बात की गवाह है कि इससे पहले भी कई बार घड़ी ने काम करना बंद कर दिया है। प्राग शहर के मशहूर घड़ी रिपेयर मास्टर पेट्र स्काला बताते हैं कि इस घड़ी की मरम्मत एक बहुत पुराने रोगी की सर्जरी करने जैसा है। 

Loading...

 

घड़ी इन मानवीय लक्षणों को दर्शाती है

71 वर्षीय मि. स्काला ने बताया कि उनकी ऐसी योजना है कि वे इस घड़ी के आंतरिक मशीनरी को आधुनिक मेटल से रिप्लेस कर उसे एक नया लुक प्रदान करें। उन्होंने बताया कि घड़ी के बाहरी रंग में भी थोड़ा बहुत बदलाव किया जाएगा। बताया कि ये घड़ी सबसे खराब मानवीय लक्षणों का प्रतिनिधित्व करते हैं, अभिमान, ईर्ष्या और लालच, करुणा, उदारता। मि. स्काला ने कहा, वे घड़ी को एक असली लुक प्रदान करना चाहते थे।

 
Loading...