हाफिज पर कार्रवाई को लेकर बढ़ा पाक पर दबाव, मुआयना करने जाएगी UN की टीम

- in अन्तर्राष्ट्रीय

 मुंबई हमले के मास्‍टरमाइंड हाफिज सईद और उसके संगठनों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर बढ़े वैश्विक दबाव के बीच संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) की एक टीम इस हफ्ते पाकिस्‍तान दौरे पर आ रही है। इस दौरे का मकसद इस बात का पता लगाना है कि पाकिस्‍तान वैश्विक स्‍तर पर लगाए प्रतिबंधों का कितना अनुपालन कर रहा है।

हाफिज पर कार्रवाई को लेकर बढ़ा पाक पर दबाव, मुआयना करने जाएगी UN की टीम

प्रतिबंधों का मुआयना करने वाली यूएनएससी की निगरानी टीम दो दिवसीय दौरे के तहत पाकिस्‍तान यात्रा पर होगी, जिसकी शुरुआत गुरुवार से होगी। डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक, एक वरिष्‍ठ पाक अधिकारी ने बताया कि यूएनएसी 1267 सेंक्‍शंस कमिटी की मॉनिट‍िरिंग टीम 25 और 26 जनवरी को यहां होंगी। टीम का दौरा ऐसे समय में हो रहा है जब अमेरिका और भारत द्वारा हाफिज सईद व उसके संगठनों पर प्रतिबंध लागू करने को लेकर पाकिस्‍तान पर दबाव बनाया जा रहा है। हालांकि पाक अधिकारियों ने जोर देते हुए कहा कि यह नियमित दौरे का एक हिस्‍सा है।

Loading...

हाल ही में हाफिज सईद को लेकर दिए गए पाक पीएम शाहिद खकान अब्‍बासी के बयान पर अमेरिका की तीखी प्रतिक्रिया सामने आई थी। अमेरिका ने पाकिस्तान से दो टूक कहा था कि हाफिज सईद एक आतंकी है, जो मुंबई में हुए आतंकी हमले का मास्टरमाइंड भी है। इसलिए पाकिस्तान उस पर कानून की अंतिम सीमा तक केस चलाए। आपको बता दें कि पिछले दिनों पाक पीएम ने हाफिज सईद को ‘साहेब’ कहते हुए कहा था कि उसके खिलाफ पाकिस्‍तान कोई केस दर्ज नहीं है। इसलिए मुकदमा नहीं चलाया जा सकता।

जमात उद दावा प्रमुख हाफिज सईद को नजरबंद किए जाने के बाद नवंबर में रिहा कर दिया गया था। अमेरिका ने जमात-उत-दावा को आतंकी संगठन घोषित किया हुआ है, जो कि लश्कर-ए-तैयबा के लिए काम कर रहा है। अमेरिका ने जमात-उद-दावा को 1987 में सईद द्वारा स्थापित लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी मोर्चा कहा था। 26/11 के मुंबई आतंकी हमलों को अंजाम देने में लश्कर ही जिम्मेदार था, जिसमें 166 लोगों की जान गई थी।

Loading...