अलीगढ़ में नकलविहिन परीक्षा कराने के लिए डिप्टी सीएम करने पहुंचे विद्यालयों का निरीक्षण

एंकर–अलीगढ़ में नकलविहिन परीक्षा कराने के लिए डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा विद्यालयों का निरीक्षण करने पहुंचे, नकल के लिए कुख्यात अतरौली इलाके में डिप्टी सीएम का काफिला निकला। हालाकि निरीक्षण में सभी वय्वस्थाएं दुरुस्त मिली। हरदुआगंज के अग्रसेन इंटर कालेज , अतरौली के तोछी, पालीमुकीमपुर , बिजौली के स्कूल पहुंचे। हालांकि मीडिया को स्कूल के अंदर नही जाने दिया, लेकिन व्यवस्थाएं दुरुस्त मिली। इस दौरान  डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने कहा कि  हमारा काम नकल पकड़ना नहीं है  बल्कि नकल के प्रति लोगों को जागरुक करना है। उन्होंने कहा कि यूपी में मेधाशक्ति की कमी नहीं है, यहां  के लोग दुनिया में अलग पकड़ रखता है।

उन्होने कहा कि  नकल करने के लिए लोग बाध्य न हो, इस परिस्थिति से उबारना चाहते है। शिक्षा में सुधार पर कहा कि इस सत्र में नकल के खिलाफ अभियान चलाया है,अगले सत्र में पढाई को लेकर अभियान चलायेंगे। डा दिनेश शर्मा ने कहा कि विद्यार्थी डिग्रीधारक न बने ,योग्यता के अनुसार उसे जाब मिले, इसलिए  स्किल डेवलेपमेंट का कोर्स माध्यमिक शिक्षा में लाने का विचार कर रहे हैं । उन्होने कहा कि हम चाहते है कि तनाव मुक्त विद्यार्थी हो , इसलिए शिक्षा में सुधार की तरफ बढ़ रहे हैं । उन्होंने कहा कि  एनसीईआरटी पैटर्न को यूपी बोर्ड में ला रहे हैं।  नये कोर्स को नए सत्र से लागू करेंगे।  शिक्षा में समानता लाने पर काम करेंगे। इस दौरान अलीगढ़ के कमिश्नर स डीएम , एसएसपी, डीआईओएस भी साथ रहे। 

 डिप्टी मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने  लखनऊ के मलिहाबाद में स्कूल में चेकिंग के दौरान बुर्का उतरवाने को लकेर कहा है  यूपी में ऐसा नहीं होता है , बुर्का उतरवाने का कोई निर्देश नहीं है,ज़बरदस्ती बड़ा ईशू नहीं बना सकते,  उन्होंने कहा कि बुर्का पहन कर परीक्षा जरुर दे सकते है , धर्म के आधार पर भेदभाव नहीं है,ये अच्छी पद्धति को खराब करना है,  ऐसा कोई आदेश नहीं है,मामले में विद्यालय प्रबंधक से बात करेंगे। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में आने का मौका मिला है, सीसीटीवी,चार दीवारी सब मिले हैं,उन्होंने कहा कि सतत चेकिंग अभियान चलता रहेगा।  उन्होने कहा कि अलीगढ़ ताले के लिए प्रसिद्ध है लेकिन शिक्षा के लिए प्रसिद्ध हो, उन्होने कहा कि सख्ती के लिए कोई कारण नहीं है, लेकिन हम नहीं चाहते मेधावी छात्र परेशान हो।

दूसरे प्रदेश से लोग एक्जाम देने आये ये ठीक नहीं है। उन्होने कहा कि नकल करते पकड़े ये काम नहीं है,व्यवस्था को देखने आये है कि परीक्षक है कि नहीं है, खुले मैदान में पेपर तो नहीं दिया जा रहा है, उन्होंने कहा कि कुछ कमी रही होगी, तो दूर करेगें। हवाई पट्टी पर लकनऊ वापस लौटते समय उप मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा मकसद है कि जो व्यवस्था बनाई है उसका पालन हो रहा है । उन्होंने कहा कि वयवस्था तुरन्त नहीं बनती,आदेश का पालन कराना पड़ता है।

Loading...

उन्होंने कहा कि छात्रपढ़ कर परीक्षा पास करें , ये आत्म विश्वास जगाना जरुरी है, नकल कर पास करने के भ्रम को झूठलाना है।उन्होंने कहा कि हम छात्रों व शिक्षकों के खिलाफ नहीं है,लेकिन बाहर से लेखक बुलाना,इमला बोलकर नकल कराना , कापी बदलने का गैगं खत्म करना है। उन्होंने कहा कि सत्र से केवल उन्ही विद्यालयों को मान्यता मिलेगी जो साल भर बच्चों को पढाते है। उन्होंने कहा कि विद्यालय में दुकान चलाने , बारात घर खोलने व भैसों का तबेला बनाने बालों को अब विद्यालय की मान्यता नहीं मिलेगी। 

BYTE-Dr DINESH SHARMA 2

Loading...