इस गांव की सड़क पर लिया जा रहा है टोल टैक्स, DM ने दिया अल्टीमेटम

सीतापुर। देश की राजधानी दिल्ली और प्रदेश की राजधानी लखनऊ को जोड़ती एनएच-24 सड़क के टोल कर्मियों की दबंगई जारी है। आलम यह है कि उन्होंने टोल वसूलने के चक्कर मे गांव में जाति हुई सड़कों पर ही बैरीकेटिंग लगा दी है, जिससे लोगों को बेहद दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

सड़क के बीच लगी बैरीकेडिंग

आपको बता दें कि एनएच-24 पर स्थित सीतापुर के खैराबाद थाना क्षेत्र में टोल कर्मियों द्वारा इसलिए ऐसा किया गया, जिससे ज्यादा से ज्यादा वसूली की जा सके। ऐसा नहीं है इस बात की जानकारी जिला प्रशासन को नहीं, लेकिन सब कुछ जानकर भी प्रशासन अनजान बना हुआ है। यह एक बड़ा सवाल है। जब इस मामले में टोल मैनेजर अनिकेत श्रीवास्तव से बात करने की कोशिश की तो उनका फोन नहीं उठाया

रोजाना टोल की हो रही लाखों की वसूली 

500 किलोमीटर में दोनों राजधानियों को जोड़ने वाली इस सड़क के निर्माण की बात करें। सूत्रों की मानें तो साल 2017 तक इस सड़क का निर्माण पूरी तरह पूरा हो जाना तय हुआ था, लेकिन यदि हम केवल सीतापुर से लखनऊ में बनी इस सड़क की बात करें तो सड़क तो बन गयी, लेकिन आज भी दो पुल कमलापुर और अटरिया कस्बे में ना बन सके, जबकि टोल की रोजाना लाखों की वसूली कई वर्षों से की जा रही है।

Loading...

क्या कहा सिटी मजिस्ट्रेट ने?

वहीं इस मामले में सिटी मजिस्ट्रेट सीतापुर ने कहा कि इस मामले में जिलाधिकारी ने कल बुलाकर इनके टोल के अधिकारियों से पूछा था, यदि बैरीकेटिंग न हटाई गई तो इन सभी कर्मचारियों पर GB कार्यवाही होगी और जेसीबी भेजकर उसे उखाड़वाया जाएगा।

Loading...