जस्‍टिस लोया मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज, तीन साल पहले हुई थी मौत

- in बड़ी खबर, राष्ट्रीय

नई दिल्‍ली। जस्‍टिस बीएच लोया के मौत मामले में स्‍वतंत्र जांच की याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई की जाएगी। चीफ जस्‍टिस दीपक मिश्रा की अध्‍यक्षता वाली बेंच मामले की सुनवाई करेगी।

कई याचिकाएं दाखिल कर सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में जांच कराने की मांग की गई है। पिछली सुनवाई में याचिकाकर्ता तहसीन पूनावाला के वकील ने कहा था कि जज लोया के शव को मुंबई के बजाए दूसरी जगह क्यों ले जाया गया जबकि उनका परिवार मुंबई में था। किसी भी डॉक्टर या सबूतों की जांच नहीं की गयी और कई महत्वपूर्ण दस्तावेज गायब हैं, इस मामले में स्वतंत्र जांच होनी चाहिए ताकि लोगों को वास्‍तविकता का पता चल सके।

याचिका दाखिला कराने वाले तहसीन के वकील ने कहा कि जज लोया की पोस्टमार्टम नागपुर के कुंडा में किया गया। इसके लिए भी कोई दस्तावेज नहीं है। 7 फरवरी 2016 को मौत की रिपोर्ट को दर्ज किया गया सवाल उठता है कि इसे कैसे किया गया, जबकि दस्तावेज कुछ और कह रहा है।

तीन साल पहले शादी में नागपुर गए थे जस्‍टिस लोया

तीन साल पहले 30 नवंबर 2014 में सहयोगी जज की बेटी की शादी में शामिल होने जस्‍टिस बृजगोपाल हरकिशन लोया मुंबई से नागपुर गए थे। वहां वे रवि भवन में रुके। 1 दिसंबर की सुबह उनके परिवार को जानकारी दी गयी कि हर्ट अटैक के कारण जस्‍टिस लोया की मौत हो गयी।

Loading...

पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण ‘हर्ट अटैक’

पुलिस रिकार्ड के अनुसार, लोया की मौत सुबह के 6.15 पर हुई। सुबह में चार बजे उनकी छाती में दर्द हुआ जिसके बाद उन्‍हें दो अस्‍पतालों में ले जाया गया फिर भी उन्‍हें नहीं बचाया जा सका। पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण हर्ट अटैक बताया गया।

जस्‍टिस लोया के परिजनों ने मौत पर जताया संदेह

नवंबर 2017 में ‘कारवां’ में प्रकाशित एक आलेख के लिए दिए गए इंटरव्‍यू में जस्‍टिस लोया के पिता और दो बहनों ने मौत की परिस्‍थितियों को संदिग्‍ध बताया। इसके बाद दिसंबर महीने में बॉम्बे लॉयर्स एसोसिएशन द्वारा भी बॉम्बे हाईकोर्ट में लोया की मौत पर जनहित याचिका दायर कर जांच की मांग की गयी थी, साथ ही एक नागरिक समूह ने भी आयोग बनाकर जज लोया की मौत की जांच की मांग उठाई थी।

बता दें कि जस्‍टिस लोया सोहराबुद्दीन शेख फेक एनकाउंटर मामले की सुनवाई कर रहे थे। गत 12 जनवरी को हुए एक प्रेस कांफ्रेंस में जस्‍टिस मदन बी लोकुर, कुरियन जोसेफ, रंजन गोगोई व जस्‍टिस चेल्‍मेश्‍वर ने चीफ जस्‍टिस पर सवाल उठाया था।

Loading...