अगर ऐसा न होता तो विराट कोहली नहीं ठोक पाते शतक, न ही बनता ये इतिहास

- in खेल

नई दिल्ली। केपटाउन में खेले गए तीसरे वनडे मैच में भारतीय कप्तान विराट कोहली ने नाबाद 160 रन की पारी खेली। ये शतक विराट कोहली के वनडे करियर का 34वां शतक रहा। इस मैच में पहले बल्लेबाज़ी करते हुए भारत ने दक्षिण अफ्रीका के सामने छह विकेट पर 304 रनों का लक्ष्य रखा। चाइनामैन कुलदीप यादव और कलाई के स्पिनर युजवेंद्र चहल ने चार-चार विकेट लेकर मेजबानों को लगातार तीसरी हार की ओर ढकेल दिया। भारत ने 124 रनों से यह मैच जीता। इस जीत के साथ ही भारत ने दक्षिण अफ्रीका में पहली बार लगातार तीन मैच जीतकर छह मैचों की सीरीज में 3-0 से अजेय बढ़त ले ली है। भारत अब पहली बार दक्षिण अफ्रीका में वनडे सीरीज जीतने से सिर्फ एक जीत दूर है। लेकिन इस मैच में एक समय ऐसा भी आया था जब कोहली इस विराट पारी को खेलने से चूक सकते थे। 

अगर ऐसा न होता तो नहीं खेल पाते विराट पारी

दक्षिण अफ्रीकी कप्तान एडन मार्करम ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया। कोहली जब शून्य पर थे तभी मैदानी अंपायर ने रबादा की गेंद पर उन्हें पगबाधा आउट दे दिया लेकिन भारतीय कप्तान ने तुरंत डीआरएस का सहारा लिया और रीप्ले में पता चला कि गेंद उनके बल्ले से टकराने के बाद पैड से लगी थी जिसके बाद तीसरे अंपायर ने फैसले को बदल दिया। इसके बाद कोहली ने नाबाद 160 रन की पारी खेलकर प्रोटियाज के पसीने छुड़ा दिए।

 

कोहली का विराट धमाका

भारतीय बल्लेबाजी की कमान एक बार फिर विराट ने संभाली। उन्होंने इस वर्ष खेले तीसरे वनडे में ही दूसरा शतक ठोक दिया। मैन ऑफ द मैच कोहली की 159 गेंदों की नाबाद पारी किसी दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ किसी भारतीय बल्लेबाज की सर्वश्रेष्ठ पारी है। इससे पहले सचिन ने 2003 में पीटरमेरिट्सबर्ग में 152 और गांगुली ने 2001 में जोहानिसबर्ग में 127 रनों की पारी खेली थी। गेंदों के लिहाज से भी यह उनकी सबसे लंबी पारी है। इससे पहले उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ ढाका में ही 148 गेंदों की सबसे लंबी वनडे पारी खेली थी। कोहली अब वनडे में सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले सचिन से सिर्फ 15 शतक पीछे हैं।

 

Loading...

इस पारी के दौरान विराट कोहली ने कई रिकॉर्ड्स भी बनाए हैं। तो चलिए आपको बताते हैं कि कौन-कौन से रिकॉर्ड उन्होंने केपटाउन में अपने नाम किए।

गांगुली को छोड़ा पीछे

विराट कोहली ने कप्तान के तौर पर 12 शतक लगाए हैं जो भारतीय कप्तान के तौर पर सबसे ज्यादा हैं। 11 शतक के साथ सौरव गांगुली दूसरे नंबर पर हैं। ओवरऑल कप्तानों की सूची में ऑस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग (22) और दक्षिण अफ्रीका के एबी डिविलियर्स (13) उनसे आगे हैं।

तीन बार 150 का आंकड़ा किया पार

विराट वनडे में तीन बार 150 से ज्यादा रन बना चुके हैं। वह दूसरे भारतीय कप्तान हैं जिन्होंने देश के बाहर 150 से ज्यादा की पारी खेली है। 160 रन का ये स्कोर कोहली का वनडे में दूसरा सर्वश्रेष्ठ स्कोर भी है। उन्होंने इससे पहले 2012 में पाकिस्तान के खिलाफ 183 रन बनाए थे।

कोहली ने लगाई छक्कों की सेंचुरी

केपटाउन वनडे में अपना पहला छक्का लगाते ही कोहली ने वनडे क्रिकेट में सौ छक्कों का आंकड़ा छू लिया। इस पारी के दौरान उन्होंने दो छक्के लगाए और अब वनडे में उनके 101 छक्के हो गए हैं। उन्होंने 205 मैचों की 197 पारियों में ऐसा किया। वह भारत की तरफ से सर्वाधिक छक्के लगाने के मामले में आठवें नंबर पर हैं। धौनी (216) भारतीयों में सबसे आगे हैं।

 
 
Loading...