गोबर बेचकर पति को दिया ये गिफ्ट, पत्नी ने ऐसे जुटाए 80 हजार रुपये…

छत्तीसगढ़ के बस्तर के बकावंड इलाके से एक सुखद तस्वीर सामने आई है, जहां एक महिला ने गोबर बेचने से हुई आमदनी से अपने पति को बाइक गिफ्ट की है. राज्य में गोधन न्याय योजना के तहत गौठान बनाए गए है और पशुपालकों से दो रुपये किलो की दर से गोबर की खरीदी की जाती है. गोबर से हो रही आमदनी ने आर्थिक तौर पर बड़ा बदलाव लाने का काम किया हैं. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) इन दिनों राज्य के प्रवास पर है. वे बकावंड क्षेत्र में पहुंचे तो एक महिला ने अपनी आर्थिक स्थिति में बदलाव की कहानी साझा की.

गोबर बेचकर पति के लिए खरीद दी बाइक

मंगनार से आई नीलिमा देवांगन ने बताया कि गोबर बेचकर उन्होंने 80 हजार रुपए की बाइक अपने पति के लिए खरीदी. सारे सपने गौठान से पूरे हो रहे हैं. गौठान के माध्यम से उनका समूह भी आर्थिक रूप से काफी सशक्त हुआ है. उन्होंने बताया कि हमारा गौठान काफी आगे चल रहा है और दस लाख रुपए हमें वर्मी खाद बेचकर प्राप्त हुआ है. 13 लाख रुपए का केंचुआ बेच चुके हैं. हम लोग सामुदायिक बाड़ी भी चलाते हैं इसके माध्यम से हमने दो लाख रुपए कमा लिये हैं.

गोबर बेचकर खरीद लिया मक्का मशीन

नर्सरी के माध्यम से हमने 60 हजार रुपए कमाये हैं. मछलीपालन के माध्यम से हम 60 हजार और मुर्गीपालन के माध्यम से हमने 75 हजार रुपए की आय हासिल की है. मुख्यमंत्री ने नीलिमा को बधाई देते हुए कहा कि ऐसा ही काम सभी गांवों में होना चाहिए. ऐसे ही कृष्णा देवांगन ने मुख्यमंत्री को बताया कि उन्होंने तीन लाख रुपए का गोबर बेचा है और इस पैसे से मक्का मशीन खरीदी है.
Loading...
E-Paper