पति की मौत का लगा ऐसा सदमा कि अंतिम संस्कार के पहले खुद को लगाई आग

पति की मौत पर पत्नी को ऐसा सदमा लगा कि वह बर्दाश्त नहीं कर पाई और उसने खुद को आग लगा ली। पिपरिया गौंड गांव का है मामला… उसने पति की अंतिम यात्रा निकलने से पहले खुद को आग लगा ली, जिसके बाद उसकी भी मौत हो गई। गांव में जब पति-पत्नी दोनों की शवयात्रा एक साथ निकली तो लोगों की आंखें भर आईं। यह घटना पिपरिया गौंड गांव निवासी भाजपा नेता मूरतसिंह के यहां हुई। इससे पूरा क्षेत्र स्तब्ध हो गया।

जानकारी के मुताबिक मूरत सिंह के मझले भाई 54 वर्षीय बलवीर सिंह राजपूत उर्फ मुनी का कुछ दिन पहले हार्ट का ऑपरेशन हुआ था। चार दिन पहले ही वे ऑपरेशन कराकर लौटे थे। 2 फरवरी को शाम 5 बजे चक्कर आने के बाद उनका निधन हो गया था। पूरा परिवार और परिजन शोक में डूबे हुए थे, सभी जगह शनिवार को सुबह 9 बजे अंतिम संस्कार की खबर कर दी गई थी।

बलवीर सिंह के परिवार में 2 पुत्र व 2 पुत्रियां है। लेकिन अंतिम संस्कार के कुछ देर पहले ही पति की मौत का सदाम बलवीर सिंह की पत्नी 48 वर्षीय पत्नी मानवती राजपूत सहन नहीं कर सकी। मानवती ने बाथरूम में जाकर खुद को आग लगा ली। जब तक घर वाले कुछ समझ पाते तब तक वह गंभीर रूप से जल गई।

इससे मानवती की मौत हो गई। इसके बाद सुबह मानवती के पोस्टमार्टम के बाद घर से दोनों की एक साथ अर्थी निकाली गई। इसको देखकर सैकड़ों आंखें नम हो गई। गांव में ही एक साथ दोनों का दाह संस्कार किया गया। मुखाग्नि बड़े बेटे पुष्पेन्द्र ने दी।

अंतिम संस्कार के समय मंत्री प्रतिनिधि लखन सिंह, ओमप्रकाश सिंह, जितेन्द्र सिंह, दिलीप सिंह राजपूत, प्रफुल्ल बोहरे, सुनील गढ़ौला, इन्द्रराज सिंह, राहुल बाहरपुर, हेमराज सिंह, राजपाल सिंह, मलखान सेमरा, अजय दुबे, अनिल सेंगर, रवीन्द्र सिंह राजपूत आदि भाजपा कार्यकर्ता अंतिम यात्रा में शामिल हुए।

Loading...
E-Paper