SA में इस खिलाड़ी के कारण वनडे सीरीज में मिली हार, भारतीय दिग्गज ने किया चौंकाने वाला दावा

नई दिल्ली: साउथ अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज में टीम इंडिया का 0-3 से सूपड़ा साफ हो गया है. इस पूरे दौरे पर टीम इंडिया के स्पिनर रविचंद्रन अश्विन का बेहद घटिया प्रदर्शन देखने को मिला है. रविचंद्रन अश्विन ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2 वनडे मैचों में सिर्फ 1 विकेट लिया. तीसरे वनडे में वह प्लेइंग इलेवन में भी शामिल नहीं थे. साउथ अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज में ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन भी बुरी तरह फ्लॉप साबित हुए हैं. रविचंद्रन अश्विन का प्रदर्शन इतना घटिया रहा है कि इसी साउथ अफ्रीका दौरे के साथ ही उनका वनडे करियर खत्म माना जा रहा है. 

इस खिलाड़ी के कारण साउथ अफ्रीका में हारे वनडे सीरीज

पूर्व क्रिकेटर संजय मांजरेकर ने इस बीच रविचंद्रन अश्विन के वनडे टीम में आने पर ही सवाल खड़े कर दिए हैं. संजय मांजरेकर ने कहा कि टीम इंडिया ने रविचंद्रन अश्विन को वनडे सीरीज में खिलाकर बड़ी कीमत चुकाई है. संजय मांजरेकर ने साउथ अफ्रीका दौरे पर खेली वनडे सीरीज में भारत की हुई फजीहत के पीछे रविचंद्रन अश्विन को विलेन ठहराया है. संजय मांजरेकर ने ESPNCricinfo से कहा, ‘टीम इंडिया को सिर्फ स्पिनर की नहीं गेम चेंजर स्पिनर की जरूरत है, जो बीच के ओवरों में विकेट चटका कर मैच का रूख बदल सके.’

संजय मांजरेकर का मानना है कि 4 साल बाद वनडे में अश्विन को चुने जाने का फैसला अजीब था. संजय मांजरेकर के मुताबिक भारत को खराब चयन की कीमत चुकानी पड़ी. अश्विन को सीरीज के शुरुआती दो वनडे मैचों में मौका मिला, लेकिन वह महज एक विकेट हासिल कर पाए और 20 ओवर की गेंदबाजी में 121 रन खर्च किए.

भारतीय दिग्गज ने की टीम से बाहर करने की मांग

संजय मांजरेकर ने कहा, ‘अश्विन अजीब तरह से किसी कारण भारत की वनडे टीम में वापस आ गए. भारत ने इसकी कीमत चुकाई है. अश्विन ने दो महत्वपूर्ण वनडे मैच खेले और कुछ खास नहीं किया. युजवेंद्र चहल भी जांच के घेरे में हैं. प्रसिद्ध कृष्णा को थोड़ा और समर्थन देने की जरूरत है. साथ ही 50 ओवर में मोहम्मद शमी एक अच्छा विकल्प हो सकते हैं.’

भारतीय दिग्गज ने इस खिलाड़ी को वापस लाने की मांग की 

संजय मांजरेकर ने कहा, ‘हमें देखना होगा कि चहल इस रोल में कहां तक फिट बैठते हैं. मुझे नहीं लगता कि जयंत यादव जैसे या फिर रवींद्र जडेजा के आने से भी कुछ काम बनने वाला है.’ मांजरेकर ने कहा, ‘वक्त आ गया है जब भारत को कुलदीप यादव की ओर देखना चाहिए. भारत को वैसे कलाई के स्पिनर ही विकेट लेकर दे सकते हैं.’ कुलदीप की वकालत करते मांजरेकर को देखकर कुछ गलत भी नहीं लग रहा. क्योंकि मिडिल ओवरों में वो सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले स्पिनर हैं.

कुलदीप यादव 11 से 40 ओवर के बीच कुल 68 विकेट चटकाए हैं, जो कि सबसे ज्यादा है. उनके मुकाबले 59 विकेट इस दौरान झटककर इंग्लैंड के आदिल राशिद दूसरे नंबर पर हैं. वहीं 50 विकेटों के साथ युजवेंद्र चहल इस लिस्ट में तीसरे नंबर पर हैं. मांजरेकर ने कहा कि मिडिल ओवर्स में कोई स्पिनर अगर 3-4 विकेट चटकाता है तो इससे डेथ ओवर्स में बुमराह जैसे तेज गेंदबाज का भी काम आसान होता दिखेगा.

साउथ अफ्रीकी दौरे पर सबसे फ्लॉप प्रदर्शन 

रविचंद्रन अश्विन ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज में दो मैच खेले, इनमें उन्हें सिर्फ एक ही विकेट मिला. पहले मैच में अश्विन ने 53 रन देकर एक विकेट लिया, दूसरे मैच में उन्हें एक भी विकेट नहीं मिला लेकिन 68 रन जरूर लुटाए. सिर्फ वनडे सीरीज ही नहीं बल्कि रविचंद्रन अश्विन के लिए टेस्ट सीरीज़ भी बेहतर नहीं गई थी. अश्विन ने तीनों टेस्ट खेले और सिर्फ तीन ही विकेट लिए. पहले टेस्ट में दो, दूसरे टेस्ट में एक विकेट और आखिरी टेस्ट में उन्हें कोई विकेट नहीं मिला था.

Loading...
E-Paper