महंत नरेंद्र गिरि की मौत हत्या थी या आत्महत्या सीबीआई के छह सदस्यों की टीम गठित

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मौत की गुत्थी को सुलझाने के लिए सीबीआई ने जांच संभाल ली है। नरेंद्र गिरि की मौत हत्या थी या आत्महत्या थी, इस मामले की जांच करने के लिए सीबीआई ने 6 सदस्यीय टीम का गठन किया गया है। आपको बता दें कि बुधवार को यूपी सरकार ने महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध मौत मामले की जांच केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराने की सिफारिश की थी।
बृहस्पतिवार को दिन भर सीबीआई के प्रयागराज पहुंचने की चर्चा होती रही, हालांकि देर रात तक टीम पहुंच नहीं सकी थी। शुक्रवार को टीम के आने की बात कही जा रही है, हालांकि अधिकारी इस बारे में कुछ भी बोलने के लिए तैयार नहीं हैं। हालांकि एसएसपी की ओर से गठित 18 सदस्यीय एसआईटी मामले की छानबीन में जुटी हुई है। महंत नरेंद्र गिरि के आत्महत्या के कुछ देर बाद का वीडियो सामने आने के बाद मामला और उलझ गया है। 1.45 मिनट के इस वीडियो में कमरे का पंखा चलता हुआ मिला, जबकि नरेंद्र गिरि के मृत शरीर को रस्सी काटकर नीचे उतारने वाले शिष्य सर्वेश तिवारी का कहना है कि उसने पंखा चलाया ही नहीं। पुलिस अखाड़ा परिषद के कई कर्मचारियों, छात्रों और शिष्यों से पूछताछ कर चुकी है।
Loading...
E-Paper