CM योगी ने लोधेश्वर महादेवा तीर्थ को बनाया पर्यटन स्थल और मानचित्र पर लाने की कही बात

बाराबंकी। लोधेश्वर महादेवा तीर्थ पर्यटन के क्षितिज पर चमेगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज लोधेश्वर महादेव की पूजा-अर्चना की और कहा कि लोधेश्वर महादेवा तीथे में इसलिए आया हूं कि इसका नाम पर्यटन विकास के क्षितिज पर आ जाए। पर्यटन के दृष्टिगत बेहतर व्यवस्था हो। मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन से महादेवा के पयर्टन विकास के लिए ठोस कार्ययोजना तैयार कर प्रस्तुत करने के निर्देश दिए और कहा कि अभी तक मिले प्रस्ताव बहुत कम है। इसलिए वृहद प्रस्ताव बनाने को कहा जा रहा है। 

देवा शरीफ में भी कराएं पौध रोपण

मुख्यमंत्री ने रामनगर क्षेत्र के बुनियादी विकास के प्रति भी अपना संवेदनशीलता दिखाई। उन्होंने क्षेत्रीय विधायक शरद अवस्थी की मांग पर कहा कि जनप्रतिनिधि बुनियादी विकास के साथ ही बंद कारखानों को भी चलाने की मांग कर रहे हैं, जिसके दृष्टिगत कार्रवाई चल रही है।  मुख्यमंत्री ने 15 अगस्त तक पौध रोपण अभियान की चर्चा के दौरान कहा कि देवा शरीफ में भी वहां के मुतवल्ली से मिलकर वन विभाग के अधिकारी पौध रोपण कराएं। कोई जगह खालीपौध रोपण अभियान में सबकी भागीदारी सुनिश्चित होनी चाहिए।

 मुख्यमंत्री ने पीपल, बरगद, पाकड़ व नीम आदि पौधों को रोपित करने पर बल दिया और बताया कि पीपल का वृक्ष पर्यावरण के दृष्टिगत जरूरी है। पीपल का पेड़ हजारों लीटर पानी अपने में संजोए रखता है। इससे पृथ्वी में नमी बनी रहती है। मुख्यमंत्री ने गौ वंश संरक्षण का संदेश लोगों पर तंज कसकर दिया। उन्होंने कहा कि विधायक अभी बता रहे थे कि छुट्टा जानवरों से उनके क्षेत्र में किसान परेशान हैं। हम पूछते हैं कि जब दूध हम पिएं तो सुरक्षा की जिम्मेदारी सरकार से उठाने की अपेक्षा क्यों, गौ माता को सुरक्षित रखें। हालांकि सरकार की ओर से गौशालाएं बनाए जाने की बात भी योगी ने कही। 

नदी व तालाबों का संरक्षण का सुझाव

मुख्यमंत्री ने नदियों व तालाबों के संरक्षण का सुझाव भी जनमानस को दिया। उन्होंने कहा कि नदी तालाबों का संरक्षण नहीं करेंगे तो उसकी कीमत चुकानी होगी। मानसून आने में हो रही देरी के पीछे पर्यावरण संतुलन का बिगडना ही है। इसीलिए जल, जंगल व उपजाऊ जमीन को बचाने के लिए सबको आगे आना होगा। मुख्यमंत्री को लोधेश्वर महादेवा की पावन धरती पर विधान सभा चुनाव में किए गए अपने वादों को नहीं भूले। मुख्यमंत्री ने बुढ़वल चीनी मिल शुरू करवाने के संकेत दे दिए।

उनके संबोधन से पहले रामनगर विधायक शरद अवस्थी ने बुढवल चीनी मिल का दोबारा संचालन, हेतमापुर में घाघरा नदी पर पुल, राजकीय महाविद्यालय, मुंसिफ न्यायालय, महादेवा को नगर पंचायत में शामिल करने व गोशाला निर्माण की मांग की। ऐसे में जब मुख्यमंत्री बोलने लगे तो विधायक शरद अवस्थी की तरफ देखकर लोधेश्वर महादेवा में बिजली व्यवस्था कराने का वादा पूरा करने की बात कहते हुए चीनी मिल संचालन के वादे का जिक्र करना भी नहीं भूले। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधि चाहते हैं, कि इस क्षेत्र के बंद कारखाने दोबारा संचालित की जाएं। जनप्रतिनिधियों की मंशा का पूरा ख्याल रखा जाएगा। 

महादेवा में 24 घंटे बिजली का वादा

उल्लेखनीय है कि विधान सभा चुनाव 2017 के चुनाव प्रचार की जनसभा में योगी ने महादेवा में 24 घंटे बिजली व बुढ़वल चीनी मिल संचालित करने का वादा किया था। उन्होंने बंद पड़ी बुढ़वल चीनी मिल की ओर हाथ उठाकर कहा था कि सपा सरकार में विकास हुआ होता तो चीनी मिल बंद न होती।

Loading...
E-Paper