बिहार में कई नदियों का बढ़ा जलस्तर

पटना : बिहार में कोसी के आस-पास के इलाकों में बाढ़ के कारण लोगों को समस्या का सामना करना पढ़ रहा है. गुरुवार को बाढ़ के चलते सिकटी-पड़रिया पुल ध्वस्त हो गया. इस पुल को प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत बनाया गया था. बाढ़ का खतरा राज्य के और भी कई इलाकों में बढ़ने लगा है. इनमें सहरसा, मधेपुरा, सुपौल, किशनगंज, कटिहार के इलाके मुख्य रूप से शामिल है.

बढ़ते जल स्तर को देखते हुए लगता है कि अररिया में आने वाले दिनों में नेशनल हाईवे पर भी यातायात प्रभावित हो सकता है. राज्य की कई छोटी-बड़ी नदिया उफान पर है. इसी बीच सिकटा प्रखंड में बाढ़ से एक व्यक्ति के मौत की खबर है. दिघलबैंक, ठाकुरगंजटेढ़ागाछ और पोठिया प्रखंड भी बाढ़ की चपेट में हैं. मधुबनी जिले के कुछ इलाकों में भी जलस्तर बढ़ने लगा है.    

गौरतलब है कि बाढ़ की स्थिति से निपटने के लिए ही गंगा बाढ़ आयोग बनाया गया. आयोग गंगा के बेसिन राज्यों में बाढ़ की स्थिति पर नजर रखता है. आयोग इसके साथ ही बाढ़ प्रबंधन की योजना पर काम करता है. गंगा के बेसिन राज्यों में उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, राजस्थान, बिहार, पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश सहित कुछ अन्य राज्य भी आते हैं.

Loading...
E-Paper