सहारा का होटल 41 अरब रुपये में खरीदेगा कतर

कतर, न्यूयॉर्क के सबसे महत्वपूर्ण प्लाजा होटल को खरीदने की तैयारी कर रहा है. इसकी कीमत 600 मिलियन डॉलर (41 अरब रुपये) लगाई गई है. यह होटल पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का था. कतर सरकार का कतारा होल्डिंग, होटल का पूरा स्वामित्व खरीदेगा. इसमें 75 फीसदी स्टेक भारतीय बिजनेस समूह सहारा इंडिया परिवार की है. हालांकि इस पूरे मामले पर कतारा और सहारा की टिप्पणी नहीं मिल सकी. वहीं सूत्र ने यह जानकारी नाम न छापने की शर्त पर दी क्योंकि सौदा अभी सार्वजनिक नहीं हुआ है.

कतर पिछले दशक में पश्चिम के बड़े होटलों और लग्जरी प्रॉपर्टी को खरीद रहा है ताकि वह गैस और तेल एक्सपोर्ट से इकट्ठा पैसे को इन्वेस्ट कर सके. कतर, लिक्विड नेचुरल गैस दुनिया का सबसे बड़ा निर्यातक है. वह पहले से ही लंदन में ‘द सेवॉय’ और ‘द कनॉट’ जैसे ऐतिहासिक होटलों का मालिक है. कतर निवेश प्राधिकरण ने वोक्सवैगन और ग्लेनकोर में भी निवेश किया है.

कथित तौर पर आतंकवाद का समर्थन करने के लिए दोहा पर आर्थिक प्रतिबंध लगाए जाने के बाद कतर के विदेशी निवेश की गति खाड़ी संकट के बीच धीमा होने की उम्मीद थी. हालांकि कतर ने आरोपों को खारिज कर दिया और कहा कि आर्थिक बहिष्कार उसकी संप्रभुता को कमजोर करने का प्रयास है. प्लाजा होटल डील पिछले साल जून में नाकाबंदी की शुरुआत के बाद से कतर द्वारा पश्चिमी संपत्ति बाजार में सबसे बड़ा निवेश है. ट्रंप ने 1988 में प्लाजा खरीदा था. सहारा अपने अध्यक्ष सुब्रत रॉय के लिए वित्तीय कठिनाइयों के बीच कई सालों तक अपनी हिस्सेदारी बेचने की कोशिश कर रहा है.

Loading...
E-Paper