महिलाओं को वोट देना ‘हराम’: PML-N उम्मीदवार

पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज (पीएमएल-एन) के प्रत्याशी और पंजाब प्रांत के पूर्व मंत्री हारून सुल्तान ने यह कहकर विवाद पैदा कर दिया है कि महिलाओं के लिए मतदान करना ‘हराम’ है. सुल्तान पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी की महिला प्रत्याशी जेहरा बासित सुल्तान के खिलाफ नेशनल असेंबली की एनए 18 सीट से चुनाव लड़ रहे हैं.

जेहरा के बारे में बताया जाता है कि वे सुल्तान की भाभी हैं. सुल्तान पंजाब में पीएमएल-एन सरकार में सामाजिक कल्याण मंत्री थे. खबर के मुताबिक, अपने निर्वाचन क्षेत्र मुजफ्फरगढ़ में एक रैली को संबोधित करते हुए सुल्तान ने कहा कि वे मजहब के निर्देशों का पालन करेंगे. किसी भी महिला उम्मीदवार को वोट नहीं देंगे, क्योंकि इसे हराम (इस्लाम में मना) माना जाता है.

उन्होंने कहा, ‘मैं अल्लाह और नबी के निर्देशों के तहत काम करूंगा और इसके विपरीत काम करने से बचूंगा.’ बता दें कि पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी ने इस निर्वाचन क्षेत्र से नवाज इफ्तिखार खान को उतारा है. पाकिस्तान में मतदान संवैधानिक अधिकार है, लेकिन लाखों महिलाओं को पुरुष मताधिकार का इस्तेमाल नहीं करने देते हैं.

Loading...
E-Paper