त्रिपुरा में पत्रकारों की हत्या में बीजेपी की सहयोगी पार्टी के नेता शामिल

त्रिपुरा में पिछले साल हुई दो पत्रकारों की हत्याओं में अब एक नया खुलासा सामने आया है जो रविवार को सीबीआई ने किया है. सीबीआई ने इस मामले में बीजेपी सरकार की सहयोगी पार्टी के तीन नेताओं सहित सैकड़ों लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है, बता दें, पत्रकार शांतनु भौमिक और सुदीप दत्ता त्रिपुरा में पत्रकारिता के लोकप्रिय नाम थे जो राजनीति की भेंट चढ़ गए है. 

बता दें, त्रिपुरा के ही एक टीवी चैनल लिए काम करने वाले शांतनु भौमिक की पिछले साल 20 सितंबर को हत्या कर दी गई थी. वह पश्चिमी त्रिपुरा ज़िले के मंडवई इलाके में आईपीएफटी के कार्यकर्ताओं के प्रदर्शन और सड़क नाकाबंदी को कवर करने गए थे. वहीं सुदीप स्थानीय बांग्ला समाचारपत्र स्यंदन पत्रिका में संवाददाता के तौर पर काम करते थे. हत्या के आरोप में त्रिपुरा स्टेट राइफल्स (टीएसआर) की दूसरी बटालियन के कमांडेंट तपन देबबर्मा और टीएसआर के कॉन्स्टेबल नंदलाल रेंग को गिरफ़्तार किया गया था.

सीबीआई ने इस मामले में आईपीएफटी के जिन नेताओं को गिरफ्तार किया है वो बलराम देब बर्मा, धीरेंद्र देब बर्मा और अमित देब बर्मा. इन मामलों में काफी समय से जांच कर रही सीबीआई को अब जाकर सफलता हासिल हुई है हालाँकि इस मामले में अभी सीबीआई की जांच चल रही है. 

Loading...
E-Paper