कांग्रेस जम्मू-कश्मीर में बनाएगी सरकार, बन रही है ये रणनीति

नई दिल्लीः जम्मू-कश्मीर में कांग्रेस पार्टी सरकार बनाने पर विचार कर रही है. इस संदर्भ में पार्टी की एक उच्च स्तरीय बैठक दिल्ली में हो रही है. पूर्व पीएम मनमोहन सिंह के आवास पर हो रही इस बैठक में पार्टी के कई दिग्गज नेता शामिल हैं. यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने पिछले दिनों मनमोहन सिंह के नेतृत्व में कश्मीर को लेकर एक कमेटी का गठन किया था.

इस बैठक में पार्टी के वरिष्ठ नेता डॉ. कर्ण सिंह, गुलाम नबी आजाद, गुलाम अहमद मीर (प्रदेश अध्यक्ष), तारिक हमीद कर्रा और अंबिका सोनी मौजूद हैं. माना जा रहा है कि इस बैठक में पीडीपी के साथ संभावित गठबंधन पर चर्चा हो रही है. हालांकि, कांग्रेस ने एक दिन पहले रविवार को ही पीडीपी के साथ गठबंधन की संभावना को खारिज किया था. राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा था कि पीडीपी के साथ गठबंधन का सवाल ही नहीं उठता. कुछ ही दिन पहले पीडीपी के नेतृत्व वाली सरकार से भाजपा ने समर्थन वापस ले लिया था. आजाद ने स्पष्ट तौर पर कहा था कि न तो अभी और न ही भविष्य में पीडीपी के साथ गठबंधन का सवाल उठता है.

Loading...

दरअसल, सरकार बनाने की सुगबुगाहट उस वक्त शुरू हुई जब शुक्रवार रात में पीडीपी की प्रमुख महबूबा मुफ्ती दिल्ली पहुंचीं. राज्य की 87 सदस्यीय विधानसभा में पीडीपी के 28 और कांग्रेस के 12 विधायक हैं. सरकार बनाने के लिए 44 का जादूई आंकड़ा चाहिए. पीडीपी के कुछ सदस्य माकपा और निर्दलीय विधायकों को साधने की कोशिश कर रहे हैं. इस बीच जम्मू-कश्मीर राज्य कांग्रेस अध्यक्ष जीए मीर ने कहा है कि भाजपा राज्य की सत्ता में वापसी के लिए बेचैन है.

Loading...
E-Paper