काशी से ब्रज तक अमित शाह लायेंगे राजनीति में नया जोश, चार से दौरा शुरू

लखनऊ। लोकसभा चुनाव 2019 की तैयारी में जुटी भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश को लेकर बेहद गंभीर है। उत्तर प्रदेश में लोकसभा की सर्वाधिक 80 सीट दांव पर हैं। अमित शाह उत्तर प्रदेश में भाजपा की लोकसभा चुनाव की तैयारी का परीक्षण करेंगे। अगले वर्ष होने जा रहे लोकसभा चुनाव के लिए जमीनी तैयारी में जुटी भाजपा की दिशा तय हो गई है। इसको लेकर पार्टी अब सपा-बसपा और कांग्रेस पर पूरी तरह आक्रामक रहेगी।

भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह चार व पांच जुलाई को उत्तर प्रदेश में रहेंगे। चार को उनका प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में आगमन है। इसके बाद देर शाम लखनऊ भी आ सकते हैं। अमित शाह वाराणसी में चार जुलाई को वाराणसी के साथ ही मीरजापुर के भाजपा नेताओं तथा पदाधिकारियों से भेंट करेंगे। इसके बाद वह पांच जुलाई को ताजनगरी आगरा जाकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश के भाजपा नेताओं की तैयारी का जायजा लेंगे।

भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश में मिशन 2019 को लेकर बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी के संभावित गठबंधन पर अपनी रणनीति में बदलाव किया है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने हाल में ही नई दिल्ली में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के बड़े नेताओं से बातचीत की थी। इससे पहले 2014 में भाजपा ने उत्तर प्रदेश में अपने सहयोगी दल के साथ 80 में से 73 सीट पर जीत दर्ज की थी।

अमित शाह चार जुलाई को वाराणसी पहुंचेंगे। वहीं से मीरजापुर जाएंगे। इससे पहले तीन क्षेत्रों के संगठन मंत्रियों को बदला गया था। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह जानना चाहते हैं कि लोकसभा चुनाव को लेकर क्या होमवर्क किया गया है। अब इसके तहत उस क्षेत्र के एक-एक विधायक और सांसद के रिपोर्ट कार्ड पर चर्चा होगी। अब लोकसभा चुनाव को लेकर भाजपा ने विस्तारकों की ड्यूटी लगा रखी है। यह सभी संगठन के पूर्णकालिक कार्यकर्ता होते हैं। उत्तर प्रदेश में भाजपा के 163 विस्तारक हैं।

Loading...

वाराणसी के बाद अमित शाह की पश्चिम उत्तर प्रदेश के भाजपा नेताओं की बैठक ताजनगरी आगरा में होगी। यहां उनकी बैठक ब्रज, पश्चिम और कानपुर क्षेत्र के नेताओं के साथ होगी। इसके साथ ही आईटी सेल के लोगों के साथ अमित शाह अलग से मिलेंगे। मोदी और योगी सरकार के काम काज को सोशल मीडिया के जरिए आम लोगों तक कैसे पहुंचाया जाए। इस पर विस्तार से चर्चा होगी। संघ ने यूपी के लिए दलितों और पिछड़े नेताओं को साथ लेकर चलने को कहा है।

अमित शाह आगरा में संगठन की बैठकों के अलावा प्रबुद्ध वर्ग की एक बड़ी संगोष्ठी को संबोधित करेंगे। यह संगोष्ठी मिशन 2019 को लक्ष्य कर आयोजित की जा रही है और इसमें हर वर्ग के प्रमुख चिंतकों को आमंत्रित किया जा रहा है। भाजपा संगठन व सरकार की ओर से हिन्दुत्व के मुद्दे के साथ-साथ विकास को भी तरजीह मिल रही है। अब धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के साथ ही संगठन की ओर से धार्मिक नगरों में समारोहों के आयोजन भी तेज कर दिए गये हैं। अमित शाह वहां काशी, गोरखपुर और अवध क्षेत्र के विस्तारकों की बैठक करेंगे। इसके बाद वह इन्हीं तीनों क्षेत्रों के लोकसभा प्रभारियों की अलग बैठक करेंगे। इन बैठकों से आधे उत्तर प्रदेश के प्रमुख कार्यकर्ताओं को मिशन 2019 की जिम्मेदारी सौंपेंगे।

Loading...