लखनऊ में जुलाई से शुरू होगा ODOP समिट, PM मोदी करेंगे उद्घाटन

लखनऊ। सूबे के परंपरागत उद्योगों को बढ़ावा देने के मकसद से शुरू की गई एक जिला एक उत्पाद (ओडीओपी) योजना को जमीन पर उतारने के जुलाई के तीसरे हफ्ते में राज्य स्तरीय समिट का लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में वृहद स्तर पर आयोजन किया जाएगा। इसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कराने का इरादा है। ओडीओपी समिट में लघु उद्योग विशेषज्ञों और उद्यमियों को विशेष रूप से आमंत्रित किया जाएगा, ताकि योजना की ब्रांडिंग वैश्विक स्तर पर की जा सके। ओडीओपी को लेकर 10 जुलाई को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में उद्यमियों के साथ बैठक भी होगी।

पचौरी ने शुक्रवार को निर्यात प्रोत्साहन भवन में विभाग की मासिक समीक्षा बैठक के दौरान मीडिया को यह जानकारी दी। उन्होंने अधिकारियों को सचेत किया कि ओडीओपी सरकार की महत्वपूर्ण योजना है, इसलिए इसके क्रियान्वयन में किसी भी प्रकार की उदासीनता और लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि नये उद्योग लगाने के साथ ही पुराने उद्यमियों को सहयोग प्रदान करके उनके उत्पाद को प्रमोट किया जाए। उन्होंने जिलों को आवंटित लक्ष्य समय से पूरा करने का निर्देश दिया।

मुख्यालय स्तर के अधिकारियों को जिलों का भ्रमण करने के लिए ताकीद किया। वहीं जिला स्तरीय अधिकारियों को गांव-गांव जाकर ओडीओपी योजना को बढ़ावा देने का निर्देश दिया। ओडीओपी योजना को सफल बनाने के लिए स्थानीय स्तर पर उद्यमियों के उत्पादों को उचित बाजार कैसे मिले, उत्पादित माल की बिक्री, परिवहन व मार्केटिंग जैसे बिंदुओं पर उन्होंने अधिकारियों को गहन विचार मंथन कर रणनीति तैयार करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि ओडीओपी के उत्पादों की बिक्री के लिए प्रमुख स्थलों पर केंद्र बनाने की योजना है।

पांच हजार करोड़ बढ़ा लक्ष्य

पचौरी ने बताया कि इस वर्ष 89 हजार करोड़ रुपये के उत्पाद का निर्यात हुआ, जो पिछले वर्ष की तुलना में पांच हजार करोड़ रुपये अधिक है।

बांग्लादेश में बेचे जाएंगे उप्र के उत्पाद

पचौरी ने कहा कि बांग्लादेश के उद्यमियों के साथ एमओयू हस्ताक्षरित किया गया है। इससे यहां के उत्पाद अब बांग्लादेश में भी बेचे जाएंगे। इसी प्रकार अन्य देशों से भी समझौता करके निर्यात बढ़ाने पर बल दिया जा रहा है।

मुंबई में लगाएंगे वस्त्र प्रदर्शनी

एमएसएमई मंत्री ने बताया कि प्रदेश के कपड़ा व्यवसायी 18 जुलाई को मुंबई में एक वृहद वस्त्र प्रदर्शनी लगाने जा रहे हैं जिसका वह उद्घाटन करेंगे।

हर जिले में एक बड़ा उद्योग

मंत्री ने जिला स्तरीय अधिकारियों को अपने-अपने जिले में एक बड़ा उद्योग लगाने का लक्ष्य भी दिया जिससे कि स्थानीय स्तर पर लोगों को रोजगार मिल सके।

10 क्लस्टर चिह्नित

सचिव एमएसएमई भुवनेश कुमार ने बताया कि ओडीओपी योजना के लिए 10 जिलों को क्लस्टर के रूप में नामित किया गया है। इनमें अंबेडकर नगर, इटावा, गौतमबुद्धनगर, हापुड़, बाराबंकी, आगरा, कानपुर नगर, कानपुर देहात, हमीरपुर व फतेहपुर शामिल हैं। इनके लिए कंसल्टेंट भी नियुक्त कर दिये गए हैं। 

Loading...
E-Paper