लखनऊ युवा कांग्रेसियों पर पुलिस ने भांजी लाठियाँ

लखनऊ। भारत बचाओ आंदोलन के लिए सड़क पर उतरे युवा कांग्रेसी आज लखनऊ की सड़कों पर खुद को पुलिस की लाठियों से नहीं बचा सके। भारत बचाओ आंदोलन के तहत राष्ट्रीय अध्यक्ष केशव चंद यादव के नेतृत्व में ज्ञापन देने जा रहे युवक कांग्रेस कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच जमकर झड़पें हुईं। आंदोलन को काबू करने के लिए पुलिस ने लाठियां बरसाई। इस दौरान विधानमंडल दलनेता अजय कुमार लल्लू समेत दो दर्जन से ज्यादा कार्यकर्ता घायल हुए, जिनमें से चार गंभीर हैं। घायलों का ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया है।

भारत बचाओ आंदोलन की शुरुआत 

आज गांधी सभागार में मध्य जोन के युवक कांग्रेस कार्यकर्ताओं के सम्मेलन में नवनियुक्त राष्ट्रीय अध्यक्ष केशव चंद यादव दोपहर करीब 12 बजे भारत बचाओ आंदोलन की शुरुआत करने पहुंचे। युवाओं से खचाखच भरे सभागार में करीब दो घंटे चले भाषणों के दौर में केंद्र व प्रदेश सरकार को जमकर निशाने साधे। युवक कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष केशव चंद यादव, उपाध्यक्ष बीवी श्रीनिवासन, बिहार के विधायक और प्रभारी आनंद शंकर के अलावा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर, विधानमंडल दल नेता अजय कुमार लल्लू और दीपक सिंह आदि नेताओं ने भाजपा को युवा, किसान और विकास विरोधी करार देते हुए सड़क पर संघर्ष का एलान किया। भीषण गर्मी में पसीने से लथपथ कार्यकर्ता भाजपा विरोधी नारेबाजी करके माहौल को गर्मा रहे थे।

सभागार से निकलते ही पुलिस ने रोका

भाषणों का सिलसिला खत्म होने के बाद प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर सहित वरिष्ठ नेता वहां से निकल गए। युवा कार्यकर्ताओं को तय कार्यक्रम के अनुसार विभिन्न मांगों का ज्ञापन सौंपने के लिए राजभवन जाना था। सम्मेलन समाप्त होने के बाद कार्यकर्ताओं ने जैसे ही गांधी सभागार से बाहर निकलने की कोशिश की पुलिस ने उन्हें आगे बढऩे से रोक दिया। इस पर कार्यकर्ता बिफर गए और पुलिस से धक्कामुक्की शुरू हो गई। नारेबाजी करते कार्यकर्ताओं की ओर से कई पत्थर चले तो पुलिस ने लाठी बरसाते हुए प्रदर्शनकारियों को दौड़ा लिया। प्रांगण में घुसकर कार्यकर्ताओं पर लाठियां भांजी और बाहर सड़क पर भी दौड़ाया।

Loading...

टकराव में कई बड़े नेता घायल

करीब आधा घंटे तक पुलिस और कार्यकर्ताओं में टकराव चला। विधानमंडल दलनेता अजय कुमार लल्लू, ब्रजेश बादल, अरुण, अंकित परिहार व अमित समेत दो दर्जन से अधिक कार्यकर्ता घायल हो गए। राष्ट्रीय अध्यक्ष केशव चंद यादव और बीवी श्रीनिवास भी चोटें लगी। लाठीचार्ज की जानकारी मिलने पर वरिष्ठ नेता भी गांधी स्मारक की ओर दौड़े। प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर, दीपक सिंह ने अस्पताल पहुंचकर घायलों का हाल जाना और फौरी उपचार न मिलने पर नाराजगी जतायी। पूर्व विधान परिषद सदस्य सिराज मेंहदी, नसीब पठान, पूर्व राज्यसभा सदस्य प्रमोद तिवारी आदि ने लाठीचार्ज की भत्र्सना करते हुए दोषी पुलिस अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग की।

Loading...