आपातकाल के 43 साल बाद भी शत्रुघ्न सिन्हा, यशवंत और राजेंद्र चौधरी नहीं महसूस करते हैं बदलाव

लखनऊ। आपातकाल के 43 साल पूरे होने पर समाजवादी पार्टी ने भाजपा की केंद्र और प्रदेश सरकार पर निशाना साधा है। भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि आपातकाल के बाद व्यवस्था परिवर्तन की चाहत में आज तक कई बार सत्ता परिवर्तन हुआ लेकिन व्यवस्था परिवर्तन कभी नहीं। पूर्व वित्तमंत्री यशवंत सिन्हा ने कहा कि आज भी अघोषित इमरजेंसी का दैर महसूस कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि आज दिन को भाजपा लोकतंत्र विरोधी काला दिवस के रूप में मना रही है।

आज भी अघोषित आपातकाल

सपा के मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा कि देश में आज भी अघोषित आपातकाल है। लोगों की नागरिक स्वतंत्रता और अभिव्यक्ति के मौलिक अधिकारों का हनन किया जा रहा है। 25 जून को ही 1975 में देश में आपातकाल लगा था। तब भी संविधान प्रदत्त नागरिक स्वतंत्रता और अभिव्यक्ति के मौलिक अधिकार का हनन हुआ था। विपक्ष के नेताओं को कैद कर लिया गया था। आज भी अभिव्यक्ति की आजादी पर हमला हो रहा है। असहिष्णुता चरम पर है। लोकतांत्रिक व्यवस्था को केंद्र और राज्य सरकारें कमजोर कर रही हैं।

ईमानदार पत्रकारों का जीवन असुरक्षित 

सपा प्रवक्ता ने कहा कि ईमानदार पत्रकारों का जीवन असुरक्षित हो गया है। नौजवानों का भविष्य अंधकार के गर्त में ढकेला जा रहा है।चौधरी ने कहा कि केंद्र के चार साल के कार्यकाल में सांविधानिक संस्थाओं की विश्वसनीयता पर आंच आई है। सरकार अधिनायकशाही जैसा बर्ताव कर रही है। सरकारी नीतियों में तानाशाही के संकेत हैं। समाज को भय और अराजकता के वातावरण में जीना पड़ रहा है।  गरीबों-बेरोजगारों की समस्याओं के समाधान की दिशा में भाजपा सरकार संवेदनशून्य है।

Loading...

सत्ता परिवर्तन से व्यवस्था नहीं बदली : शत्रुघ्न सिन्हा

वाराणसी में भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि 44 साल पहले आज के दिन ही देश में कयामत की तारीख थी। जब देश में इमरजेंसी लगी। उसके बाद देश की जनता ने व्यवस्था परिवर्तन की चाहत में सत्ता परिवर्तन किया, तभी से आज तक कई बार सत्ता परिवर्तन हुआ लेकिन, व्यवस्था परिवर्तन आज तक नहीं हुआ। मैं किसी पर व्यक्तिगत आरोप नहीं लगाता हूं। मेरी लड़ाई सिस्टम से है, क्या कारण है कि आज किसान, युवा, दलित सरकार से नाराज है। मैं नोटबंदी का विरोध करता हूं, जीएसटी की व्याख्या लोगों से करता हूं कि गइल सरकार तोहार। 

देश में अघोषित इमरजेंसी का दौर : यशवंत सिन्हा

पूर्व वित्तमंत्री यशवंत सिन्हा ने कहा कि आज का दिन भारतीय इतिहास में इसलिए बदनाम है क्योंकि आज के दिन ही इमरजेंसी लगी थी। देश में अघोषित इमरजेंसी का दौर चल रहा। संविधान पर आक्रमण हो रहा है विपक्ष को बोलने नहीं दिया जा रहा है। 

Loading...