फीफा विश्व कप 2018: सऊदी अरब ने 24 साल बाद रचा इतिहास, हैट्रिक के साथ मिस्त्र की विदाई

स्टार फुटबॉलर मोहम्मद सालाह की जीत के साथ विश्व कप से विदा होने की हसरत पूरी नहीं हो पाई। 28 साल बाद वैश्विक टूर्नामेंट में खेल रहे मिस्त्र को ग्रुप ए के अतिम मैच में भी साऊदी अरब से 2-1 से मात मिली और हार की हैट्रिक के साथ अपने अभियान का अंत किया। सऊदी अरब ने 24 साल बाद विश्व कप में कोई मैच जीता है। इससे पहले उसने 1994 में बेल्जियम को 1-0 से हराया था। इस दौरान उसने 12 मैचों में 10 हारे और 2 ड्रॉ रहे।

साऊदी अरब को दो विवादास्पद पेनल्टी मिली, जिसमें से दूसरी को सलमान अल फराज ने 46+5 मिनट में गोल में बदला, जिसके बाद सलीम ने 90+5 मिनट गोल दागकर अपनी टीम जीत सुनिश्चित कर ली। मिस्त्र के लिए एकमात्र गोल लीवरपूल स्टार मोहम्मद सलाह ने 22वें मिनट में किया। 

वोल्गोग्राड ऐरेना में खेले गए मुकाबले में सऊदी अरब ने उम्मीद से बेहतर शुरुआत की और आठवें मिनट में ही कॉर्नर हासिल किया। हालांकि, मिस्त्र के डिफेंस ने सऊदी अरब को शुरुआती बढ़त नहीं बनाने दी। शुरुआती झटके के बाद मिस्त्र ने अपना बेहतर खेल दिखाया। मिस्त्र के शानदार डिफेंस के कारण सऊदी अरब के खिलाड़ियों ने लंबी दूरी से गाले करने का प्रयास किया, लेकिन वह नाकाम रहे।

बता दें कि सऊदी अरब को फीफा विश्व कप के 21वें सीजन में यह पहली जीत है। हालांकि, सऊदी अरब और मिस्त्र दोनों पहले ही नॉकआउट की दौड़ से बाहर हो चुके थे। इस जीत के साथ सऊदी अरब की टीम तीन मैचों में दो हार और एक जीत से तीन अंकों के साथ तीसरे स्थान पर रही। वहीं, मिस्त्र की टीम ने अपने तीनों मैच गंवाए और बिना खाता खोले विश्व कप को अलविदा कह दिया।

Loading...
E-Paper