उत्तराखण्ड में BJP मिशन 2019 के ड्रीम प्रोजेक्ट को नहीं पड़ने देंगे ढीला

देहरादून: मिशन 2019 के लिए भाजपा का ब्रांड नरेंद्र मोदी ही होंगे। लिहाजा उत्तराखंड में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट और केंद्र की अन्य महत्वपूर्ण योजनाओं पर ही फोकस रहने वाला है। इन योजनाओं को अमल में लाने में किसी तरह की हीलाहवाली न केंद्र की मोदी सरकार और न ही भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को सहन होगी। लिहाजा सरकार को बचे हुए एक साल में इन योजनाओं पर और ताकत झोंकनी होगी। 

अमित शाह ने अपने दौरे में प्रदेश सरकार को इस बाबत ताकीद कर दी है। उत्तराखंड में मिशन 2019 के लिए दारोमदार एक बार फिर मोदी और डबल इंजन पर ही रहेगा। इसे देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट, केंद्र सरकार के फ्लैगशिप कार्यक्रमों व महत्वाकांक्षी योजनाओं के क्रियान्वयन को लेकर राज्य सरकार को खास जोर लगाना होगा। 

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने लोकसभा चुनाव की तैयारी बैठक में सरकार और प्रदेश संगठन को इन योजनाओं पर अमल से लेकर प्रचार-प्रसार को मुहिम के रूप में लेने को कहा है। वैसे भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भ्रष्टाचार को लेकर सख्त रुख का ही नतीजा है कि प्रदेश सरकार ने भी भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टॉलरेंस और सुशासन को अपने एजेंडे के शीर्ष पर रखा हुआ है। 

Loading...

इसके साथ ही केदारनाथ पुनर्निर्माण, चार धाम ऑलवेदर रोड, चार धाम रेल प्रोजेक्ट, भारतमाला परियोजनाओं के साथ ही स्वच्छ भारत मिशन, उज्ज्वला योजना, आवास योजना और किसानों की आमदनी को दोगुना करने की योजना को लेकर केंद्र सरकार के रुख को भांपकर राज्य सरकार भी इसमें अपने स्तर पर ढिलाई न होने देने को सतर्क है। 

बताया जा रहा है कि केंद्र की योजनाओं को लेकर शाह पार्टी की जमीनी कार्यकर्ताओं से अपने ढंग से फीडबैक ले रहे हैं। मिशन 2019 के चुनाव प्रचार एजेंडे में उक्त योजनाओं को प्रमुखता मिलना तय है। खासतौर पर केदारनाथ पुनर्निर्माण और ऑलवेदर रोड मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट में शुमार हैं।  शाह ने इन योजनाओं में किसी तरह की ढिलाई नहीं चाहते हैं। सरकार तक यह संदेश पहुंचा दिया गया है। यह दीगर बात है कि इन योजनाओं पर सरकार की अब तक की परफॉरमेंस पर शाह ने संतोष जताया है।

Loading...