दोस्ती की तरफ आगे बढ़ें अमेरिका और नॉर्थ कोरिया

- in अन्तर्राष्ट्रीय

 अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और नॉर्थ कोरिया नेता किम जोंग की मुलाकात की सफलता अब नजर आ रही है. उत्तर कोरिया 50 के दशक में हुए कोरियाई युद्ध के दौरान मारे गए अमेरिकी जवानों के अवशेषों के 200 सेट में से पहला अमेरिका को जल्द ही लौटा सकता है. एक अमेरिकी अधिकारी ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि पिछले सप्ताह किम जोंग उन और डोनाल्ड ट्रंप के बीच जो समझौता हुआ था, ये भी उसी का हिस्सा है.  

3 साल तक था युद्ध
सिंगापुर में 12 जून को हुई एतिहासिक शिखर बैठक के दौरान अमेरिका और उत्तर कोरिया के नेताओं के बीच अवशेष लौटाने पर सहमति बनी थी. कोरियाई युद्ध वर्ष 1950 से 1953 तक चला था. युद्ध के दौरान लापता हुए अमेरिकी जवानों के संबंध में एक फैक्टशीट में पेंटागन ने कहा, ‘पहले कई मौकों पर डीपीआरके के अधिकारियों ने संकेत दिए हैं कि उनके पास बीते कई वर्षों में उन्होंने जो अवशेष इकट्ठे किए हैं उसके 200 सेट उनके पास हैं.’ इस फैक्टशीट में बताया गया कि 1990 दशक की शुरुआत में भी अवशेष लौटाए गए थे.

7,700 अब भी लापता- रिपोर्ट
पेंटागन के मुताबिक युद्ध के दौरान कोरियाई प्रायद्वीप में 35,000 से अधिक अमेरिकी जवान मारे गए थे. माना जाता है कि उनमें से 7,700 अब भी लापता हैं जिनमें से 5,300 अकेले उत्तर कोरिया में लापता हुए. 

Loading...

अमेरिका और नॉर्थ कोरिया के बीच निलंबित हुआ समझौता
वर्ष 1990 से 2005 के बीच उत्तर कोरिया ने पहले के एक समझौते के तहत अमेरिका को अवशेषों के 229 सेट लौटाने की मंजूरी दी थी. लेकिन दोनों देशों के बीच संबंध खराब होने के बाद वह समझौता निलंबित कर दिया गया था. 

Loading...