करुणानिधि के बेटे की नई पार्टी बनाने पर भाजपा ने कहा- साथ आते हैं तो उनका स्वागत करने को तैयार

- in Main Slider, राजनीति

चेन्नई। तमिलनाडु में अगले साल यानी 2021 में विधानसभा चुनाव होने हैं। उससे पहले ही राज्य में राजनीतिक हलचल तेज हो गई है। एक तरफ जहां दिवंगत मुख्यमंत्री करुणानिधि के बेटे और डीएमके चीफ एम.के स्टालिन खुद सीएम बनने की रणनीति में जुटे हैं वहीं दूसरी तरफ उनके भाई एम.के अलागिरी के नई पार्टी बनाने को लेकर भी खबरे सामने आई हैं। माना जा रहा था कि राज्य में पैर जमाने में जुटी भाजपा अलागिरी का साथ दे सकती है, लेकिन तमिलनाडु में भाजपा अध्यक्ष एल मुरुगन इन खबरों को खारिज कर दिया है।

राज्य भाजपा अध्यक्ष ने कहा- नहीं है इस बारे में जानकारी-

उन्होंने कहा,’ एम के अलागिरी से ऑधिकारिक तौर पर उनकी कोई भी बातचीत नहीं हुई है। मुझे इस बारे में कोई भी जानकारी नहीं है कि वह भाजपा में शामिल हो रहे हैं। भाजपा में कई लोग शामिल होते हैं और अगर वह भाजपा ज्वाइन करने के लिए तैयार हैं तो उनका स्वागत है’। गौरतलब है कि मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया था कि वह राज्य में नई पार्टी बनाने के साथ ही भाजपा के साथ गठबंधन कर सकते हैं। इस संदर्भ में वह गृह मंत्री अमित शाह से भी मुलाकात कर सकते हैं।

Loading...

अमित शाह से मुलाकात करने तक चली खबरें-

मीडिया रिपोर्ट में बताया गया था कि इस के लिए राजधानी चेन्नई में दोनों नेताओं की वन-टू बन मुलाकत हो सकती है। हालांकि अलागिरी ने इस बात को स्वीकार नहीं किया है। बता दें कि 6 साल पहले भाई स्टालिन ने बड़े भाई को पार्टी से निकाल दिया था। पार्टी विरोधी गतिविधियों के ते चलते साल 2014 में उन्हें पार्टी से बाहर का रास्त दिखाया था। इसके बाद साल 2018 सितंबर महीने में उन्होंने सार्वजनिक तौर पर अपनी उपस्थिति दर्ज कराई थी।यही नहीं माना जा रहा है कि वह अपनी नई पार्टी का नान कलइगनर डीएमके रख सकते हैं।

Loading...