निक्‍की हेली ने कहा- गर्व है अपने भारतीय वंश पर, भारतीय राजदूत बोले- नहीं भूलीं जड़ों को

- in अन्तर्राष्ट्रीय

वाशिंगटन डीसी। वैश्विक स्‍तर पर कई महिलाओं ने अपने प्रभावशाली व्‍यक्तित्‍व से अमिट छाप छोड़ी है और एक अलग मजबूत पहचान बनाई है। इनमें अमेरिका की निक्‍की हेली का नाम भी शामिल है, जो विदेश मंत्री का पदभार भी संभाल चुकी हैं और इस वक्‍त संयुक्‍त राष्‍ट्र में अमेरिकी राजदूत हैं। मगर उन्‍हें अपने भारतीय वंश पर भी गर्व है और कहा है कि किसी को भी अमेरिकी बनने के लिए भारतीयता को छोड़ने की जरूरत नहीं है।

निक्‍की ने बुधवार को भारतीय दूतावास का दौरा किया और भारतीय राजदूत नवतेज सरना से मुलाकात की। इस मौके पर ही उन्‍होंने कहा, ‘मैं भारतीय माता-पिता की एक गौरवान्वित बेटी हूं।’ हेली ने पीएम नरेंद्र मोदी की भी सराहना की। उन्‍होंने कहा कि राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप हमेशा भारत के साथ अमेरिका के द्विपक्षीय संबंधों को भारी महत्‍ता देते हैं और उसे एक नए स्‍तर पर ले जाने की उम्‍मीद है।

निक्की ने यह भी कहा, ‘हम दोनों के गणतंत्र में बहुत कुछ समान है, इसी वजह से हमारा दोस्त बनना समझ में आता है। मुझे लगता है कि आपको हमारे बीच बढ़ते संबंध में यकीन दिख रहा है। भारत में जो कुछ हो रहा है, और बढ़ते संबंध से राष्ट्रपति बहुत खुश हैं। वह भारत के साथ बहुत कुछ करने की कोशिश कर रहे हैं।’ इससे पहले सरना ने हेली की उनकी व्‍यक्तिगत प्रतिबद्धता की तारीफ की और कहा कि आप संयुक्‍त राष्‍ट्र की गति‍शीलता को समझती हैं। उन्‍होंने अपने जड़ को नहीं भूलने के लिए भी हेली की सराहना की और कहा कि उनका सफर प्रेरणा का स्त्रोत है।

Loading...

गौरतलब है कि हेली का जन्‍म 20 जनवरी 1972 को दक्षिण कैरोलिना के बैमबर्ग में एक भारतीय-अमेरिकी सिख परिवार में निम्रता रंधावा के रूप में हुआ था। वह पंजाब के अमृतसर जिले से अमेरिका में बसे थे। यह भी बता दें कि राष्‍ट्रपति ट्रंप भारत के साथ अमेरिका के संबंधों को एक नया आयाम देने को लेकर कई मौकों पर अपनी प्रतिबद्धता जता चुके हैं और इस दिशा में आगे बढ़ भी रहे हैं। दोनों देशों के नेताओं के बीच कई वैश्विक मंचों पर दिखी गर्मजोशी इसकी मिसाल है और ट्रंप ने कई अहम पदों पर भारतीय मूल के लोगों की नियुक्ति कर अपना स्‍पष्‍ट संदेश देते रहे हैं। 

Loading...