सलमान खुर्शीद ने कहा कठपुतली नहीं है हम, कांग्रेस को विश्वास में ले सरकार, देंगे सुझाव

- in राजनीति

पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद ने गुरुवार को कहा कि सरकार को राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित अपने कार्यों के बारे में कांग्रेस को विश्वास में लेना चाहिए। पार्टी बहुमूल्य सुझाव दे सकती है। उन्होंने कहा कि पार्टी को कठपुतली की तरह नहीं माना जा सकता है और इस पर विचार-विमर्श होना चाहिए।

उनसे केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद की टिप्पणी के बारे में पूछा गया, जिसमें उन्होंने सरकार द्वारा चीन से जुड़े 59 ऐप पर प्रतिबंध लगाने के कुछ दिनों बाद एक पश्चिम बंगाल भाजपा की रैली में कहा, ‘भारत एक डिजिटल स्ट्राइक भी कर सकता है।’ उन्होंने कहा कि हमारी स्पष्ट स्थिति है कि यदि यह राष्ट्रीय हित है और यदि यह पड़ोसी के साथ टकराव का विषय है जो भारत के कल्याण और भारत के राष्ट्रीय हित के प्रति शत्रुतापूर्ण है, तो हम सरकार के साथ खड़े होंगे। यह कहते हुए कि हम कठपुतलियां नहीं हैं, हमें स्थिति के बारे में बताया जाना चाहिए और हमें समझाना होगा। इस पर हमारे साथ चर्चा करनी होगी।’

कांग्रेस नेता ने आगे कहा कि अब डिजिटल स्ट्राइक का यह सारा कारोबार, यह स्ट्राइक या वह स्ट्राइक। जनता में इस तरह की हलचल का कोई मतलब नहीं है। अगर स्ट्राइक भारत की मदद करने वाली हैं तो हम स्ट्राइक का समर्थन करेंगे, अगर स्ट्राइक निरर्थक हैं तो स्ट्राइक का समर्थन करने का क्या मतलब है। हम यह नहीं कह रहे हैं कि जानकारी को सार्वजनिक रूप से साझा करें, निजी रूप से साझा करें। नेतृत्व को बुलाओ, यह साझा करें जो आप करना चाहते हैं वह गोपनीय रहेगा। उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी भी कुछ सुझाव दे सकती है।

उन्होंने कहा कि सरकार हमें आसानी से अपने साथ कर सकती है, अगर वे वो करें जो देश के लिए सबसे अच्छा है। सच कहूं तो, हमें कुछ भी नहीं बताया गया है, आप केवल हवा से कोई स्पष्टीकरण नहीं निकाल सकते हैं और हमें कठपुतलियों को स्वीकार करना होगा। यही दिक्कत है।

Loading...

वहीं, उन्होंने पूछा कि क्या सोमवार को प्रतिबंध लगाने से पहले महीनों के लिए डेटा एकत्र किया जा रहा था। उन्होंने कहा कि जो भी सरकार करे उसे संवेदनशीलता और जिम्मेदारी के साथ किया जाना चाहिए। बता दें कि प्रसाद, जो इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री हैं, उन्होंने गुरुवार को कहा कि भारत ‘डिजिटल स्ट्राइक’ भी कर सकते हैं। बंगाल में भाजपा की वर्चुअल जनसंवाद रैली को संबोधित करते हुए प्रसाद ने कहा कि भारत के लोगों की डिजिटल सुरक्षा और गोपनीयता को लेकर हम बहुत सख्त हैं। भारत- चीन सीमा विवाद पर प्रसाद ने कहा कि भारत शांति चाहता है, लेकिन अगर कोई हमारी सीमाओं फर बुरी नजर डालेगा तो हम मुंहतोड़ जवाब देना भी जानते हैं। उन्होंने कहा कि आप सबको याद होगा उड़ी और पुलवामा हमले का बदला हमने कैसे लिया था। जब हमारे प्रधानमंत्री कहते हैं कि बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा तो इसका कुछ मतलब होता है।

मध्य प्रदेश में मंत्रिमंडल विस्तार के बारे में पूछे जाने पर जिसमें कांग्रेस से इस्तीफा देने वाले कुछ विधायक मंत्री बने, खुर्शीद ने कहा, ‘यह अच्छा है। यही वे तलाश रहे थे। उन्हें अब यह मिल गया है और उन्हें साबित करना होगा। मुझे विश्वास है कि जिन लोगों ने मतदान किया है और उनके साथ विश्वासघात किया गया है, वे दूसरी बार मतदान करने के बारे में बहुत सावधान होंगे।

Loading...