धवन और रोहित शर्मा की कामयाब जोड़ी राज क्या है, इरफान पठान ने किया खुलासा

- in खेल

शिखर और रोहित की सुपरहिट जोड़ी साल 2013 से क्रिकेट के मैदान पर कमाल दिखाती आ रही है, जिसकी वजह से इस जोड़ी के फैंस की तादात में लगातार बढ़ोतरी होती जा रही है. शिखर और रोहित की जोड़ी ने अब तक वनडे क्रिकेट में 16 शतकीय साझेदारियां की हैं, जिसकी वजह से ये जोड़ी सबसे ज्यादा शतकीय साझेदारियां करने वाली जोड़ियों की लिस्ट में मैथ्यू हेडन और एडम गिलक्रिस्ट की जोड़ी की तरह दूसरे नंबर पर आ चुकी है. हेडन और गिलक्रिस्ट की जोड़ी ने भी 16 शतकीय साझेदारियां की हैं. पहले नंबर पर सचिन तेंदुलकर  और सौरव गांगुली की जोड़ी है जिन्होंने 21 शतकीय साझेदारियां की है.

अब शिखर धवन और रोहित शर्मा की शानदार जोड़ी की भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ऑलराउंडर इरफान पठान ने काफी तारीफ की है. हाल ही में इरफान ने अपने एक इंटरव्यू में रोहित और शिखर की जोड़ी के बारे में बात करते हुए कहा है कि- ‘सब जानते हैं कि शिखर धवन काफी खुलकर खेलते हैं और रोहित को वक्त भी देते हैं. हम ये भी जानते हैं कि कैसे रोहित शर्मा एकदम से आक्रामक हो जाते हैं, मगर ऐसा करने के लिए रोहित को शुरू में वक्त चाहिए होता है.’

Loading...

इसके अलावा इरफान ने यहां ये भी कहा कि शिखर और रोहित का आपसी तालमेल काफी अच्छा है, वो दोनों ही एक-दूसरे की क्षमताओं के बारे में जानते हैं. इस बात से बहुत फर्क पड़ता है कि आपका पार्टनर आपके खेल के बारे में कितना जानता है. पठान ने आगे कहा, ‘आपको क्रिकेट में अपनी ताकत के साथ-साथ कमजोरी के बारे में जानने के लिए भी पिच के दूसरी तरफ किसी साथी की जरूरत होती है, और ऐसे ही शिखर धवन जानते हैं कि रोहित को शुरुआत में कुछ ओवरों की जरूरत होती है. ऐसे में शिखर इस बात की जिम्मेदारी लेते हैं और रोहित को समय देते हैं और इसी वजह से उनकी जोड़ी सफल भी है. उस वक्त में जब तक सामने वाली टीम के स्पिनर आते है तब तक रोहित मैदान पर जम चुके होते है.’

वैसे आपको बता दें कि अभी कुछ समय पहले ही खुद शिखर धवन ने अपनी और रोहित शर्मा की जोड़ी के बारे में बात की थी. सोशल मीडिया पर एक लाइव सेशन के दौरान धवन ने कहा था, ‘मैं रोहित शर्मा को उस वक्त से जानता हूं जब हम दोनों अंडर-19 खेला करते थे. हम साथ में कैंप करते थे. हमें तभी से एक दूसरे पर भरोसा करते हैं और हमारी दोस्ती भी तभी से है. विश्वास और एक-दूसरे पर यही भरोसा आज हमारे बहुत काम आता है. जब भी मुझे बल्लेबाजी करने में परेशानी होती है तो मैं रोहित से पूछता हूं और तब मैदान पर खेल के बीच में हमारी काफी बात-चीत भी होती है. मैं और रोहित साल के लगभग 230 दिन साथ में ट्रेवल करते हैं.’

Loading...