अब 10 नहीं 21 भाजपा विधायकों के पास आ चुके हैं धमकी भरे मैसेज, एसआइटी गठित

लखनऊ।  सत्ताधारी दल के विधायकों सहित अन्य प्रतिष्ठित लोगों को वाट्सएप मैसेज के जरिये धमकी दिए जाने का सिलसिला बुधवार को भी थमा नहीं। प्रदेश में इससे खौफ बढ़ता जा रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को मामले में आरोपित को जल्द चिह्नित करने के कड़े निर्देश दिए हैं। इसके बाद शासन ने पूरे प्रकरण की जांच के लिए आइजी एसटीएफ अमिताभ यश के नेतृत्व में विशेष जांच दल (एसआइटी) गठित की है, जिसमें एसएसपी एटीएस जोगेंद्र कुमार व एएसपी एसटीएफ डॉ.त्रिवेणी सिंह बतौर सदस्य शामिल हैं।

 

उत्तर प्रदेश पुलिस लगातार केंद्रीय जांच एजेंसियों व इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रेस्पांस टीम (आइसीइआरटी) के संपर्क में है और सूचनाओं का आदान-प्रदान किया जा रहा है। आइबी से भी मदद ली जा रही है। हालांकि अब तक धमकी देने वालों का कोई ठोस सुराग नहीं लग सका है। अब तक करीब 21 भाजपा विधायकों को ऐसे संदेश भेजे जा चुके हैं। लखनऊ पश्चिम विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक सुरेश श्रीवास्तव, लखनऊ उत्तरी क्षेत्र के विधायक डॉ. नीरज बोरा, सीतापुर के महोली क्षेत्र के विधायक शशांक त्रिवेदी, बुलंदशहर के डिबाई क्षेत्र की विधायक डॉ.अनिता लोधी, शाहजहांपुर के कटरा क्षेत्र के विधायक वीर विक्रम सिंह उर्फ प्रिंस, लखीमपुर के मोहम्मदी क्षेत्र के विधायक लोकेंद्र प्रताप सिंह, रायबरेली के सरेनी क्षेत्र के विधायक धीरेंद्र बहादुर सिंह,

बाराबंकी के फतेहपुर क्षेत्र के विधायक साकेंद्र वर्मा, हरदोई के गोपामऊ क्षेत्र के विधायक श्याम प्रकाश, बांदा के ङ्क्षतदवारी क्षेत्र के विधायक बृजेश प्रजापति, कालपी के विधायक नरेंद्र पाल सिंह जादौन, माधौगढ़ के विधायक मूलचन्द्र निरंजन, गोंडा के मेहनौन क्षेत्र के विधायक विनय कुमार द्विवेदी, गोंडा के तरबगंज क्षेत्र के विधायक प्रेम नारायण पांडेय, बरेली के फरीदपुर क्षेत्र के विधायक श्याम बिहारी लाल, कानपुर देहात के भोगनीपुर क्षेत्र के विधायक विनोद कटियार, सिद्धार्थनगर के इटवा के विधायक डॉ. सतीश द्विवेदी, एटा के अलीगंज के भाजपा विधायक सत्यपाल सिंह राठौर,

कुशीनगर के विधायक रजनीकांत मणि त्रिपाठी, शाहजहांपुर के ददरौल से विधायक मानवेंद्र सिंह, बदायूं के बिल्सी से विधायक आरके शर्मा, पूर्व विधायक राजेश त्रिपाठी व शिवबहादुर सक्सेना, भाजपा नेता सुशील चौरसिया सहित अन्य प्रतिष्ठित लोगों को अब तक वाट्सएप के जरिये धमकी दिए जाने की बात सामने आई है। 

डीआइजी कानून-व्यवस्था प्रवीण कुमार त्रिपाठी ने बताया कि अब तक 12 विधायकों की ओर से केस रजिस्टर कराए गए हैं, जबकि कुछ ने पत्र अथवा संदेश के जरिये धमकी दिए जाने की शिकायत दर्ज कराई है। प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार का कहना है कि पूरे प्रकरण की उच्च स्तरीय जांच कराई जा रही है। जल्द आरोपितों को गिरफ्तार किया जाएगा।

डी-कंपनी के गुर्गे अली की भूमिका पर संदेह 

जांच एजेंसियों का संदेह 80 के दशक में अंडरवल्र्ड डान दाऊद इब्राहिम के करीबी रहे अली बुधेश की भूमिका पर भी है। दरअसल, विधायकों को भेजे जा रहे संदेश में अली बुधेश का नाम ही लिखकर भेजा जा रहा है। अली कभी दाऊद का बेहद करीबी था और बाद में वह बहरीन भाग गया था। दाऊद से अनबन होने पर उसने अलग गिरोह भी बना लिया था। हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं है कि इस षड्यंत्र के पीछे अली है अथवा कोई दूसरा सिर्फ उसके नाम का इस्तेमाल कर रहा है। इसी नाम के किसी दूसरे शख्स के होने की बात को भी नकारा नहीं जा सकता। 

डीजीपी ने विधायकों की सुरक्षा के लिए जारी की एडवाइजरी 

डीजीपी ओपी सिंह ने प्रकरण की गंभीरता के दृष्टिगत सभी एसएसपी/एसपी को विधायकों की सुरक्षा-व्यवस्था सुनिश्चित कराए जाने संबंधी एडवाइजरी भी जारी की है। जिला सुरक्षा समिति की बैठक कर संबंधित विधायक व प्रतिष्ठित लोगों की सिक्योरिटी का पूरा बंदोबस्त किए जाने के साथ ही कप्तानों को उनसे संपर्क कर सीधे संवाद कायम करने का निर्देश दिया गया है। 

मुख्यमंत्री ने एडीजी से ली जानकारी 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधायकों को धमकी देने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का निर्देश दिया है। उन्होंने एडीजी कानून-व्यवस्था से पूरे मामले की जानकारी ली। उन्होंने एटीएस व एसटीएफ के जरिये गहनता से जांच कराए जाने की बात कही। 

महिला के शव की भेजी फोटो 

धमकी देने वालों ने बुधवार को विधायकों सहित उनके निशाने पर आए अन्य लोगों को एक महिला के शव की तस्वीर भेजी है, जिसमें महिला खून से लथपथ जमीन पर पड़ी है। साथ ही संदेश लिखा गया है कि ‘क्या आपने पैसे की व्यवस्था की है। आज किसी ने अपनी बहन खो दी है, अब आप के लिए इंतजार करो। ब्रेकिंग न्यूज।इसके अलावा धमकी के कुछ और संदेश भी भेजे गए। 

अमेरिका का है नंबर 

जिन नंबर से विधायकों के वाट्सएप पर लगातार धमकी दी जा रही है, वह अमेरिका के टेक्सास का है। नंबर के बारे में और तकनीकी जानकारियां जुटाई जा रही हैं। 

Loading...

पाकिस्तान का निकला आइपी एड्रेस 

जांच में सामने आया है कि संदेश भेजने के लिए अलग-अलग प्रॉक्सी आइपी एड्रेस का इस्तेमाल किया जा रहा है। इनमें पाकिस्तान का भी आइपी एड्रेस शामिल है। लिहाजा इस पूरे षड्यंत्र के पीछे किसी आतंकी संगठन का हाथ होने की आशंका को भी नकारा नहीं जा सकता है।

इस तरह दी जा रही धमकी 

‘मैं हूं अली बुधेश भाई, मुझे पता है कि आप पैसे की व्यवस्था नहीं करेंगे, जब तक आप अपने परिवार से एक मृत शरीर नहीं देखते। हम वादा करते हैं कि तीन दिनों के बाद हम आपका विश्वास पाने के लिए एक-एक करके हत्या करना शुरू कर देंगे। आपके पास केवल तीन दिन हैं। मेरा व्यक्ति आपके करीब है। समय बर्बाद मत करो। कुछ इस तरह के संदेश भेजकर विधायकों को धमकाया जा रहा है। उनसे 10 लाख रुपये मांगे जा रहे हैं। आरोपित वीडियो कॉल भी कर रहे हैं। 

सरकार विधायकों की सुरक्षा पर ध्यान दे

हरदोई के गोपामऊ से भाजपा विधायक श्याम प्रकाश का कहना है कि सरकार को विधायकों की सुरक्षा पर ध्यान देना चाहिए। एसपी सुरक्षा को लेकर सही तरह से बात नहीं करते हैं। रायबरेली के सरेनी से भाजपा विधायक धीरेंद्र बहादुर सिंह ने कहा कि ऐसी धमकी से मैं डरने वाला नहीं हूं। जनता के बीच जाकर काम करता रहूंगा। बुलंदशहर के डिबाई क्षेत्र की विधायक डॉ.अनिता लोधी ने बताया कि मंगलवार रात करीब पौने दस बजे जब वह गाजियाबाद में थीं तभी शातिर ने विदेशी नंबर से वाट्सएप पर ‘कहना लिख कर मैसेजे भेजा था, जिसके बाद रात करीब पौने दो बजे मिस्ड वीडियो काल आई, जिसकी जानकारी उन्होंने बुधवार को एसएसपी गाजियाबाद वैभव कृष्ण को दे दी थी. 

बताते चलें कि लखनऊ, सीतापुर, बुलंदशहर और शाहजहांपुर समेत उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों के 10 से अधिक भाजपा विधायकों को वाट्सएप मैसेज कर रंगदारी न देने पर उन्हें व उनके परिवार के सदस्यों को जान से मारने की धमकी दी गई है। मैसेज भेजने वाले ने प्रत्येक विधायक से दस-दस लाख की रंगदारी मांगी है। धमकी के बाद से विधायकों का परिवार सहमा हुआ है। पुलिस ने तीन मामलों में एफआइआर दर्ज कर आरोपितों की तलाश शुरू कर दी है। साथ ही विधायकों की सुरक्षा भी बढ़ा दी गई है। एटीएस व एसटीएफ सहित अन्य एजेंसियां जांच में जुटी हैं। अभी मैसेज करने वालों को ट्रेस नहीं किया जा सका है। उनकी छानबीन जारी है।

एडीजी कानून व्यवस्था आनंद कुमार का कहना है कि करीब दस विधायकों को धमकी दिए जाने का प्रकरण सामने आया है। इनमें सभी ने अभी रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई है। प्रकरण को गंभीरता से देखते हुए केंद्र सरकार की जांच एजेंसियों से भी संपर्क किया गया है। यह मामला किसी बड़े षड्यंत्र का हिस्सा लग रहा है। आशंका है कि सुनियोजित साजिश के तहत किसी का फोन हैक करके उसके नंबरों पर इस प्रकार के संदेश भेजे जा रहे हैं। जल्द मामले का राजफाश किया जाएगा।

लखनऊ के उत्तरी विधान सभा क्षेत्र के विधायक डॉ. नीरज बोरा, सीतापुर जिले के महोली विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक शशांक त्रिवेदी, बुलंदशहर के डिबाई विस क्षेत्र की विधायक डॉ. अनिता लोधी और शाहजहांपुर के कटरा विस क्षेत्र के विधायक वीर विक्रम सिंह उर्फ प्रिंस के मोबाइल नंबरों पर वाट्सएप मैसेज कर उन्हें जान से मारने की धमकी दी गई। महोली के विधायक शशांक त्रिवेदी को अली बुधेश नामक व्यक्ति ने वाट्सएप मैसेज करजान से मारने की धमकी दी है।

विधायक ने मंगलवार को लखनऊ की महानगर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया है। उधर, लखनऊ के उत्तरी विधानसभा क्षेत्र के विधायक डॉ. नीरज बोरा को भी वाट्सएप पर जान से मारने की धमकी देने का मैसेज मिला है। अली बुधेश नाम का शख्स सभी को मैसेज भेज रहा है। महोली विधायक शशांक त्रिवेदी ने भी रिपोर्ट दर्ज कराई है। उधर, कटरा विस क्षेत्र के विधायक वीर विक्रम सिंह इन दिनों पोर्ट ब्लेयर गए हुए हैं। उनके मोबाइल पर वहीं रंगदारी और धमकी का मैसेज आया।

उन्होंने वहीं से फोन पर शाहजहांपुर के एसपी एस. चनप्पा को मामले की जानकारी दी। इसी तरह गोंडा जिले के तरबगंज और मेहनोन के विधायक के अलावा कानपुर देहात के भोगनीपुर के विधायक को भी वाट्सएप व वीडियो कॉलिंग से रंगदारी मांगते हुए धमकी दी गई है। गोंडा के दोनों विधायकों ने प्रमुख सचिव गृह को पत्र लिख सुरक्षा की मांग की है। उधर, डिबाई विस क्षेत्र की भाजपा विधायक डॉ. अनिता लोधी को वाट््सएप पर धमकी मिलने का सिलसिला लगातार जारी है।

सोमवार को विधायक ने संबंधित मामले की दो जिलों के कप्तानों से शिकायत की। बावजूद इसके देर रात विधायक को वाट्सएप पर फिर से धमकी भरा मैसेज भेज दिया गया। धमकी भरे संदेश में कहा गया है कि आरोपित ने अपने सहयोगियों के पास विधायक और उनके परिवार की तस्वीरें भेज दी हैं। वे कल के बाद अपना काम शुरू कर देंगे।

मुख्यमंत्री ने ली जानकारी

विधायक डॉ. अनिता लोधी को धमकी की जानकारी मिलने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार सुबह विधायक से फोन पर बात की। विधायक ने बताया कि मुख्यमंत्री ने कहा कि चिंता न करें सब ठीक हो जाएगा। बताया गया है कि इसके बाद प्रदेश के पुलिस मुखिया ओपी सिंह ने गाजियाबाद व बुलंदशहर के एसएसपी से बात की और अब तक की कार्रवाई की जानकारी लेते हुए दिशा निर्देश दिए। बुलंदशहर के एसएसपी केबी सिंह ने बताया कि विधायक को धमकी देने वाले शातिर की गिरफ्तारी के लिए टीमें लगी हैं। विधायक की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

Loading...