CM योगी ने किया आगामी शाही स्नान की तिथियों का किया ऐलान

इलाहाबाद में अगले साल होने वाले कुंभ के शाही स्नान की तिथियों का ऐलान कर दिया गया है. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अखाड़ा परिषद के पदाधिकारियों की मौजूदगी में कुंभ-2019 के शाही स्नान की तिथियों की घोषणा की.

शनिवार को इलाहाबाद के सर्किट हाउस में योगी ने कहा, “अखाड़ा परिषद के सभी 13 अखाड़ों के पदाधिकारियों की उपस्थिति में प्रयाग में अगले वर्ष लगने जा रहे कुंभ के शाही स्नान की तिथियों की घोषणा करते हुए मुझे अति प्रसन्नता हो रही है.”

उन्होंने कहा कि प्रथम शाही स्नान 15 जनवरी 2019 को मकर संक्रांति के दिन, दूसरा शाही स्नान चार फरवरी 2019 को मौनी अमावस्या के दिन और तीसरा शाही स्नान 10 फरवरी 2019 को बसंत पंचमी के दिन होगा. इसके अलावा अन्य प्रमुख स्नान पर्वों, यथा पौष पूर्णिमा, माघी पूर्णिमा और महाशिवरात्रि आदि का भी आयोजन होगा.

प्रयागराज में कुंभ का आयोजन देश-दुनिया का सबसे बड़ा आध्यात्मिक और धार्मिक आयोजन है. सीएम योगी ने कहा, “हमारा अनुमान है कि इस कुंभ में 12 से 15 करोड़ श्रद्धालु संतों के सानिध्य में स्नान करने और कुंभ का आध्यात्मिक लाभ प्राप्त करने आएंगे. यह हम सभी और खास तौर पर उत्तर प्रदेश वासियों के लिए अहम अवसर है कि वे देश-दुनिया से आने वाले श्रद्धालुओं को आतिथ्य प्रदान कर खुद को धन्य महसूस कर सकें.”

Loading...

आज इलाहाबाद भ्रमण के दौरान अखाड़ा परिषद के साथ अधिकारियों की बैठक में कुम्भ, 2019 के शाही स्नान की तिथियों की घोषणा…

Gepostet von MYogiAdityanath am Samstag, 19. Mai 2018

मालूम हो कि शाही स्नान वे स्नान हैं, जिसमें 13 अखाड़ों के सभी नागा संन्यासी, महामंडलेश्वर और अन्य साधु संत पेशवाई निकालकर सबसे पहले स्नान करते हैं.  बैठक के बाद अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि जब से भारत आजाद हुआ है, तब से पहली बार शाही स्नान की घोषणा में मुख्यमंत्री न सिर्फ उपस्थित हुए, बल्कि खुद शाही स्नान की तिथियों का ऐलान किया.

इस बैठक से पहले मुख्यमंत्री योगी ने नगर में कुंभ की तैयारियों का जायजा लिया और मठ बाघंबरी गद्दी में साधु-संतों के साथ दोपहर का भोजन किया. इस बैठक में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना, स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह और नागरिक उड्डयन मंत्री नंद गोपाल गुप्ता सहित जिला प्रशासन के शीर्ष अधिकारी मौजूद रहे.

Loading...