DDCA लोकपाल को लोग आपत्तिजनक मैसेज भेजकर कर रहे परेशान, पूर्व न्यायाधीश ने लगाई कोर्ट से गुहार

- in खेल

दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ यानी डीडीसीए में लगातार कोई न कोई विवाद सामने आता जा रहा है। अब कुछ लोगों ने डीडीसीए के लोकपाल और सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश दीपक वर्मा को आपत्तिजनक मैसेज भेजे हैं। आपत्तिजनक मैसेज मिलने से चिंतित दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) के लोकपाल और सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश दीपक वर्मा ने अब दिल्ली हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है।

दीपक ने गुरुवार को हाई कोर्ट से ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का निवेदन किया है। सेवानिवृत्त न्यायधीश दीपक ने लिखा कि मुझे बुधवार को मेरे मोबाइल नंबर पर दोपहर को व्हाट्सएप पर कई मैसेज आए थे और जब उस नंबर को ट्रूकॉलर पर जांचा गया तो वह डीडीसीए के सदस्य प्रभास सक्सेना का निकला। मेरे द्वारा पहले ही कहा जा चुका है कि यह विनम्रतापूर्वक डीडीसीए का कोई सदस्य मुझे सीधे तौर पर कोई ई-मेल या मैसेज आदि नहीं भेजा सकता। प्रभास सक्सेना ने मुझे इस तरह के अपमानजनक मैसेज भेजने की हिम्मत दिखाई इसलिए मैं आपसे निवेदन करता हूं कि प्रभास ही नहीं उन सभी सदस्यों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए जो मुझे इससे पहले भी अपमानजनक मैसेज भेज चुके हैं।

Loading...

इसके अलावा डीडीसीए सदस्यों के ग्रुप ने इसी तरह की ई-मेल मुझे भेजकर आरोप लगाया कि मैं कोर्ट द्वारा नियुक्त डीडीसीए के हस्ताक्षरकर्ता वरिष्ठ वकील राजीव बंसल पर अपने भुगतान को चुकाने का दबाव बना रहा हूं लेकिन मैं आपको ध्यान दिलाना चाहता हूं कि मैंने राजीव बंसल से कभी संपर्क नहीं किया लेकिन यह सच है कि दो महीनों से ज्यादा हो गया है और मेरे बिलों का भुगतान नहीं हुआ है। मालूम हो कि इससे पहले राजीव बंसल ने नियमों का हवाला देकर दीपक वर्मा और अधिवक्ता गौतम दत्ता व अंकुर चावला को भुगतान करने से इन्कार कर दिया था।

Loading...