कोरोना वायरस के बीच श्रीलंकाई खिलाड़ी 1 जून से शुरू कर सकते हैं प्रैक्टिस, कोच मिकी आर्थर ने दी ये जानकारी

- in खेल

कोरोना वायरस की वजह से क्रिकेट का खेल हर इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल यानी आइसीसी से सदस्यता प्राप्त देशों में बंद है। इस बीच कुछ देशों से अच्छी खबरें आ रही हैं। इस लिस्ट में अब श्रीलंका का नाम भी शामिल हो गया है, जहां श्रीलंकाई टीम के खिलाड़ी एक जून से प्रैक्टिस के लिए मैदान पर उतर सकते हैं। हालांकि, अभी श्रीलंकाई क्रिकेट बोर्ड को वहां की सरकार से अनुमति लेनी होगी।

ईएसपीएन क्रिकइंफो की रिपोर्ट के मुताबिक, अगर सरकार छूट देती है तो देश के तेज गेंदबाज खिलाड़ियों के पहले सेट के साथ ट्रेनिंग शुरू कर पाएंगे। श्रीलंकाई टीम के मुख्य कोच मिकी आर्थर ने कहा है कि उन्होंने टेस्ट और वनडे टीम के कप्तान दिमुथ करुणारत्ने और टी20 टीम के कप्तान लसिथ मलिंगा से ट्रेनिंग के बारे में बात की है कि किस तरह खिलाड़ियों को ट्रेनिंग करनी है। श्रीलंका में कोरोना वायरस के प्रकोप की बात करें तो यहां हालात सामान्य हैं।

मिकी आर्थर ने कहा है, “पिछले बुधवार को हमने क्रिकेट को फिर से शुरू करने के बारे में बात करने के लिए एक त्वरित बैठक की क्योंकि हम 1 जून के लिए(संभावित रूप से ट्रेनिंग शुरू होगी) योजनाएं शुरू कर रहे हैं। एक बार जब हम श्रीलंका के स्वास्थ्य मंत्रालय से आधिकारिक रूप से आगे बढ़ेंगे तो मैं उस समय संरचना को लेकर कप्तान और मेरे सपोर्ट स्टाफ के साथ बात करना शुरू कर दूंगा।”

Loading...

उन्होंने कहा है, “यह स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ अच्छा लग रहा है, लेकिन यह एक छोटा समूह होगा। हम शायद अपने तेज गेंदबाजों को प्राथमिकता देंगे, क्योंकि वे ही हैं जिन्हें इसमें वापसी के लिए अधिक समय चाहिए।” श्रीलंकाई टीम को दो मैचों की टेस्ट सीरीज मार्च में खेलनी थी, लेकिन कोरोना वायरस की वजह से उस सीरीज को स्थगित कर दिया गया था। उसके बाद से मिकी आर्थर अपने देश वापस नहीं लौट पाए थे और ऐसे में उन्होंने कोलंबो में ही ठहरने का फैसला किया था।

Loading...