कतर की एक दिवसीय यात्रा पर जाएंगे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान गुरुवार को कतर की एक दिवसीय यात्रा पर जाएंगे। इस दौरान 29 फरवरी को अमेरिका और तालिबान के बीच दोहा में होने वाले शांति समझौते पर हस्ताक्षर के सयम इमरान वहां नहीं होंगे।

द एक्सप्रेस ट्रिब्यूट ने विदेश कार्यालय के हवाले से कहा, ‘उच्च स्तरीय यात्राओं के नियमित आदान-प्रदान के तहत प्रधानमंत्री इमरान खान 27 फरवरी, 2020 को कतर का दौरा करेंगे। इस दौरान जो कतर राज्य के अमीर शेख तमीम बिन हमाद अल थानी से मुलाकात करेंगे।

2018 में कार्यभार संभालने के बाद यह इमरान खान की दूसरी कतर की यात्रा होगी। हालांकि, शनिवार को अमेरिका और तालिबान के बीच होने वाले हस्ताक्षर समारोह में वो शामिल नहीं होंगे। विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी इस समारोह में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व करेंगे। हस्ताक्षर समारोह में लगभग दो दर्जन से ज्यादा देशों के प्रतिनिधि हिस्सा ले रहे हैं।

अमेरिका और तालिबान के बीच 18 महीनों तक चली लंबी वार्ता के बाद शांति समझौता अपने अंतिम दौर में है। समझौते के तहत विदेशी सैनिकों को युद्धग्रस्त देश से हटा लिया जाएगा। बदले में तालिबान अफगान को किसी अन्य देश के खिलाफ उपयोग करने की अनुमति नहीं देने पर सहमत हुआ है। इससे पहले अमेरिका और तालिबान के बीच होने वाले शांति समझौते से पहले आंशिक संघर्ष विराम को लेकर समझौता हुए है।

ट्रंप ने रद की थी वार्ता

Loading...

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गत सितंबर में तालिबान के साथ शांति वार्ता रद कर दी थी, तब दोनों पक्ष समझौते के बेहद करीब थे। अमेरिका और तालिबान के बीच पिछले साल दिसंबर से दोहा में शांति वार्ता चल रही थी। लेकिन तालिबान की ओर से अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया के एक-एक नागरिकों की रिहाई के बाद गत नवंबर में शांति वार्ता दोबारा पटरी पर आई।

दस सालों में एक लाख से ज्‍यादा लोगों की मौत

संयुक्त राष्ट्र (यूएन) की एक रिपोर्ट में बताया गया है कि अफगानिस्तान में पिछले दस वर्षो के दौरान एक लाख से ज्यादा नागरिक मारे गए या घायल हुए। यह रिपोर्ट अफगानिस्तान स्थित यूएन मिशन की ओर से जारी की गई है। अफगानिस्तान में पिछले 19 साल से खूनी संघर्ष जारी है। यूएन रिपोर्ट के अनुसार, वर्ष 2019 में अफगानिस्तान में 3,493 नागरिकों की मौत हुई और करीब सात हजार घायल हुए थे।

Loading...