पीएम मोदी से मिले राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे…

Loading...

श्रीलंका के नवनियुक्त राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे अपने पहले आधिकारिक विदेशी दौरे पर भारत आए हुए हैं. शुक्रवार को उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी के साथ द्विपक्षीय वार्ता की, जिसमें आतंकवाद से लेकर व्यापार सहित कई मुद्दे पर चर्चा हुई. संयुक्त प्रेस वार्ता में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत प्रत्येक रूप में आतंकवाद का विरोध करता है और इसके खिलाफ हमारी जंग जारी रहेगी, इस लड़ाई में भारत श्रीलंका का सहयोग करता रहेगा.

संयुक्त प्रेस वार्ता में पीएम मोदी ने कहा कि, ‘चुनाव में निर्णायक जीत के लिए मैं राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे को बधाई देता हूं, श्रीलंका में लोकतंत्र की मजबूती और परिपक्वता गर्व का विषय है. ये हमारे लिए सम्मान की बात है कि राष्ट्रपति राजपक्षे ने अपने पहले दौरे यात्रा के लिए भारत को चुना, ये भारत-श्रीलंका की मित्रता का सबूत है.’ पीएम मोदी ने कहा कि, ‘दोनों देशों की उन्नति, शांति-समृद्धि के लिए भारत श्रीलंका के साथ खड़ा हुआ है. एक स्थिर, सुरक्षित श्रीलंका ना केवल भारत बल्कि भारतीय उपमहाद्वीप के हित में हैं. भारत-श्रीलंका का सबसे नजदीकी समुद्री पड़ोसी है, दोनों देशों के करीबी रिश्तों का मजबूत आधार ऐतिहासिक संबंध है.’

पीएम मोदी ने इस दौरान कहा कि हमारी सरकार की ‘पड़ोसी प्रथम’ वाली नीति के तहत हम श्रीलंका के साथ रिश्तों को प्राथमिकता देते हैं. आज राष्ट्रपति राजपक्षे और मेरे बीच द्विपक्षीय और अंतरराष्ट्रीय मामलों पर विचार विमर्श हुआ. हमने फैसला लिया है कि दोनों देशों के बीच बहुमुखी साझेदारी को मिलकर मजबूती प्रदान करेंगे.

Loading...